Published On : Sun, Jun 7th, 2020

गोंदिया होगा शीघ्र कोरोना मुक्त: 69 में से 63 ठीक हुए , केवल 6 एक्टिव केस शेष

रिकवरी रेट 91% , आज 6 स्वस्थ होकर लौटे

गोंदिया : कोरोना की रफ्तार को थामने में गोंदिया जिले ने खास सफलता हासिल की है , पिछले 5 दिनों मैं एक भी नया मामला सामने नहीं आया है। रविवार 7 जून को 6 मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

अब तक के रिपोर्ट कार्ड पर नजर डालें तो 69 बाधितों में से 63 स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं इस तरह अब तक के रिकवरी रेट की स्थिति 91 प्रतिशत रही है जो अपने आप में यह बताने के लिए काफी है कि शीघ्र गोंदिया कोरोना मुक्त होने की ओर कदम बढ़ा चुका है तथा अब केवल एक्टिव केस 6 ही शेष रह गए हैं।


जिले के तज्ञ विशेषज्ञ डॉक्टर इन 6 कोरोना मरीजों पर भी खासा ध्यान केंद्रित किए हुए हैं उम्मीद की जानी चाहिए यह भी जल्द ठीक होकर अपने घर लौटेंगे और गोंदिया कोरोना मुक्त हो जाएगा।

आज 7 जून रविवार को जो 5 मरीज कोरोना मुक्त हुए है उनमें गोंदिया तहसील के 3, गोरेगांव तहसील का 1 तथा झारखंड राज्य के निवासी एक मरीज का समावेश है।

कोरोना संक्रमण के चलते जिले से अब तक 1097 लोगों के नमूने भेजे जा चुके है जिनमें से 69 की रिपोर्ट पॉजिटिव और 996 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आयी है , शेष 32 नमूनों की रिपोर्ट प्राप्त होना बाकी है।

जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा उचित देखभाल व बेहतर स्वास्थ्य उपचार से 10 अप्रैल को पहला मरीज स्वस्थ्य हुआ जिसके बाद 28 मई को 2, 29 मई को 25, 30 मई को 4, 31 मई को 6, 1 जून को 6 , 2 जून को 4, 3 जून को 2 , 5 जून को 2, 6 जून को 6 तथा 7 जून को 5 इस तरह कुल 63 मरीज ठीक हो चुके है तथा वर्तमान में कोरोना के 6 मरीज एक्टिव रह गए है , जिनका उपचार कोविड सेंटर में जारी है।

जिन इलाकों में कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए एैसे जिले के 24 गांवों को कंटेन्मेंट घोषित किया जा चुका है जिनमें गोंदिया तहसील के 7 गांव, सालेकसा तहसील के 2 गांव, सड़क अर्जुनी तहसील के 6 गांव , गोरेगांव तहसील के 3 , तिरोड़ा का 1 और अर्जुनी मोरगांव तहसील के 5 गांव शामिल है यहां नागरिकों के घर से बाहर जाने तथा इन इलाकों में प्रवेश करने पर प्रतिबंध है।

कोरोना का प्रकोप जिले में ना फैले तद्हेतु बाहरी जिलो व राज्यों से आए 2043 लोगों को जिले के विभिन्न संस्थात्मक व शालाओं में क्वारेंटाइन किया गया है तथा 1944 लोग होम क्वारंटाइन है, एैसी जानकारी जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. निमगड़े की ओर से दी गई है।

रवि आर्य