Published On : Sat, Jun 26th, 2021

गोंदिया: जलापूर्ति योजनाओं की बिजली बाधित न हो इसलिए वित्त आयोग की निधि से करें तत्काल भुगतान

गोंदिया। अनाज के उत्पादन को देखते हुए भंडारण के लिए गोदाम कम पड़ रहे है, जिससे धान को नुकसान पहुंच रहा है। भविष्य में खुले में धान की खरीदी को रोकने के लिए भंडारण निगम के अधिकारियों के साथ एक बैठक लेकर गोदाम निर्माण का प्रस्ताव शासन को प्रस्तुत किया जाए, इस तरह के निर्देश पालकमंत्री नवाब मलिक ने आज 25 जून शुक्रवार को जिलाधिकारी कार्यालय में आयोजित समीक्षा बैठक में दिए।

धान और मक्का की खरीदी के लिए 15 दिनों के अवधि बढ़ाने के साथ पंजीकृत किसानों का संपूर्ण धान खरीदी के संदर्भ में तत्काल प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिए। साथ ही धान उठाने के मुद्दे पर भी समीक्षा की गई।

पालकमंत्री ने आगे कहा- जिन ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली भूगतान प्रलंबित होने के कारण पानी आपूर्ति योजना की बिजली आपूर्ति खंडित कर दी गई है अथवा नोटिस जारी किए गए है एैसी योजनाओं का भूगतान 15 वें वित्त आयोग की निधि से तत्काल किया जाए। उन्होंने प्रशासन को बिजली विभाग के साथ समन्वय स्थापित करने के निर्देश दिए ताकि जलापूर्ति योजनाओं की बिजली आपूर्ति बाधित न हो और उन्हें तत्काल पूवर्वत किया जा सके।

जिले में 300 करोड़ के फसल ऋण का लक्ष्य है और अब तक 108 करोड़ फसल कर्ज का वितरण किया गया है। राष्ट्रीयकृत बैंकों का लक्ष्य कम है, इसलिए फसल कर्ज वितरण का लक्ष्य पूरा न करने वाली बैंकों से सरकारी जमा की निकासी करने के संकेत भी पालकमंत्री ने दिए।

इस वर्ष 2 लाख हेक्टर में खरीफ और 10 हजार हेक्टर में धान की नर्सरी स्थापित की गई है। बारिश शुरू हो चुकी है, उर्वरक और बीज का संग्रहण प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है।

पालकमंत्री मलिक ने आगे कहा- जिला प्रशासन ने कोविड नियंत्रण के लिए अच्छा नियोजन किया है। आज गोंदिया जिले की साप्ताहिक सकारात्मक दर राज्य में सबसे कम है। मात्र 45 एक्टिव केस है इनमें 8 अस्पताल में उपचार ले रहे है, 7 ऑक्सीजन पर है तथा 1 मरीज वेन्टीलेटर पर है।

गोंदिया जिला कोरोना मुक्ति की ओर अग्रसर है, इसके लिए पालकमंत्री ने जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के प्रयासों की सराहना करते कहा- जिले में 60 वर्ष से अधिक आयु का 83 प्रतिशत, 45 वर्ष से अधिक का 52 प्रतिशत और 18 वर्ष से ऊपर वाले 5 प्रतिशत नागरिकों का टिकाकरण पूर्ण हो चुका है। कल ही 30 हजार डोज प्राप्त हुए है जिससे टिकाकरण में तेजी आएगी।

बैठक में कोविड सहित धान खरीदी, फसल कर्ज, फसल बीमा, कानून व सुव्यवस्था, बोनस, सीसीटीवी यंत्रणा को अपडेट करने सहित अनेक महत्वपूर्ण विषयों की समीक्षा की गई।
इस अवसर पर जिलाधिकारी राजेश खवले, जि.प. के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रदीपकुमार डांगे, जिला पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

रवि आर्य