Published On : Thu, Apr 30th, 2020

गोंदिया: 2 गज की दूरी.. है जरूरी !

दुकानों पर चिपके नो-मास्क, नो- सर्विस ,नो-एंट्री के पोस्टर

गोंदिया: दुकान पर सामान की खरीदी करने आया ग्राहक ऊपर से तो सेहतमंद और तंदुरुस्त दिखाई पड़ता है पर कारोबारी के मन में इस बात का संशय और डर सदैव बना रहता है कि वह अदृश्य कोरोना महामारी की चपेट में आकर कहीं संक्रमित ना हो जाए ?

हर आदमी को अपनी सुरक्षा का अख्तियार है ऐसे में भला व्यापारी अपनी जान को जोखिम में डालकर कारोबार क्यों करें ?

कमोवेश इसी का नतीजा है कि अब गोंदिया व्यापार नगरी मैं आप जिस दुकान पर चले जाएंगे आपको वहां नो मास्क.. नो सर्विस.. नो एंट्री…के पोस्टर चिपके दिखाई देंगे ?

इस मुहिम की पहल कारोबारी और युवा समाजसेवी आशीष ठकरानी द्वारा शुरू की गई है , जो अपने साथियों के साथ जाकर प्रत्येक दुकान में पंपलेट चिपका रहे हैं साथ ही दुकानदार को 5 मास्क फ्री भी दिए जा रहे हैं ताकि वह मास्क लगाकर खुद की तथा अपने यहां काम करने वाले कर्मचारी ( नौकरों ) के सेहत की सुरक्षा बखूबी कर सके।

इस अभियान के दौरान व्यापारियों में इस बात की जनजागृति भी निर्माण की जा रही है कि आपके पास अगर कोई ग्राहक बिना मास्क लगाए कोई सौदा लेने आता है तो आप उसे एक बार यह मास्क मुफ्त प्रदान कर समझाएं और उसके बाद भी वह ग्राहक दोबारा बिना मास्क के शॉप पर आता है तो आप उसे दुकान पर चिपका ,नो- मास्क.. नो-सर्विस.. नो- एंट्री का पोस्टर दिखाकर विदा कर दें।

क्योंकि थोड़ी सी कमाई के लिए अपनी जान को जोखिम में डालना मुनासिब नहीं ? जान है.. तो जहान है ।
यहां बता दें कि जिला प्रशासन के द्वारा जारी किए गए दिशा निर्देश के बाद जितने भी प्रकार के कारोबार को छूट के दायरे में समाविष्ट किया गया है उन सभी दुकानों के बाहर अब कहीं रस्सी.. तो कहीं बांस , लटके नजर आते हैं तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखते हुए दुकानों के सामने थोड़ी- थोड़ी दूरी पर सफेद कलर के गोले बनाए गए हैं तथा ग्राहक उसी के दायरे में खड़ा रहकर अपना सौदा खरीदी करता नजर आता है।

दुकानदारों में जनजागृति निर्माण करने के उद्देश्य से तैयार किए गए इस पंपलेट का विमोचन गोंदिया ग्रामीण थाना प्रभारी प्रदीप अतुलकर के हस्ते किया गया इस अवसर विनोद चंदवानी , लालू परमार, हरीश अग्रवाल , राहुल ब्राह्मणकर , अंकित डोये आदि उपस्थित थे।

रवि आर्य