Published On : Mon, Jun 15th, 2020

गोंदियाः आधी रात को गौवंश की तस्करी

वाहन जब्त, 2 पशु तस्कर पुलिस के हत्थे चढ़े

गोंदिया: नक्सल प्रभावित गोंदिया जिले तथा पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ के देहांतों में रहने वाले गरीब किसानों से औने-पौने दामों पर गाय, बैल, गोरे, भैस इत्यादि पशुधन (मवेशी) खरीदकर उन्हें नागपुर, अकोला, हैदराबाद के कत्लखानों तक पशु तस्करों द्वारा वाहनों में लादकर पहुंचा दिया जाता है।

13 जून के देर रात मवेशियों को कत्लखाने ले जाने की जानकारी मिलने पर सड़क अर्जुनी तहसील के बजरंगदल कार्यकर्ताओं ने पीकअप वाहन क्र. एमएच 36/एफ. 1956 का पीछा किया और गोरेगांव-कोहमारा मार्ग पर ग्राम पांढरी कोसमतोंडी में रेलवे फाटक के निकट वाहन को अड़ाते हुए जानकारी डुग्गीपार पुलिस को दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने जब पीकअप वाहन की तलाशी ली तो उसके भीतर निदर्यतापूर्वक व बिना चारे-पानी की व्यवस्था किए सफेद रंग के 6 गोरे, काले रंग की 2 गाय तथा लाल-भूरे रंग की 4 गाय इस तरह कुल 12 गौ-वंश लदे हुए पाए गए। प्रत्येक मवेशी का मूल्य 5 हजार (कुल कीमत 60 हजार) तथा पिकअप वाहन (कीमत डेढ़ लाख) इस तरह 2 लाख 10 हजार का माल जब्त करते हुए मुक्त कराए गए गौवंश को चिचगांव स्थित कामधेनू गौशाला गौ अनुसंधान केंद्र में रखा गया है।

इस संदर्भ में फिर्यादी पो.ह. जगदेश्‍वर बिसेन की लिखित शिकायत पर डुग्गीपार थाने में वाहन चालक आकाश (19) तथा राजा (30) नामक व्यक्ति के खिलाफ धारा 11, 1 (ड), प्राणि वाहतूक कायदा 1960 की कलम 6, 9 महाराष्ट्र पशु अधिनियम 2015 सहकलम 3/181 मोटर वाहन कायदा, सहकलम 34 के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया है। प्रकरण की जांच पो.ह. वड्टीवार कर रहे है।

रवि आर्य