Published On : Thu, Jul 4th, 2019

गोंदियाः स्कूल से बच्चे का अपहरण

हाथ से इशारा कर 2 अज्ञातों ने अपने पास बुलाया और मोपेड पर जबरन बिठाकर ले गए

गोंदिया: क्या गोंदिया जिले में इन दिनों जंगलराज चल रहा है? एक दिन पूर्व ही गोंदिया तहसील के ग्राम इर्रीटोला स्थित जि.प. प्राथमिक शाला में मुख्याध्यापिका का बेरहमी से कत्ल कर दिया गया, इस मर्डर की स्याही अभी सूखी भी नहीं थी कि, अगले दिन सड़क अर्जुनी तहसील के ग्राम घटेगांव की जिला परिषद प्राथमिक शाला परिसर से एक रौनक नामक 8 वर्षीय बालक को जबरन अगवा कर लिया गया।
इन दोनों घटनाओं के बाद अब जहां स्कूली बच्चों में दहशत व्याप्त है वहीं अभिभावक भी बच्चे के स्कूल से सुरक्षित घर वापसी की सलामती को लेकर चिंतित हो चले है।

घटना सड़क अर्जुनी तहसील के डुग्गीपार थाना अंतर्गत आनेवाले ग्राम घटेगांव स्थित जिला परिषद प्राथमिक शाला में मध्यहान भोजन के दौरान दोपहर के वक्त उस समय घटित हुई जब शाला के परिसर में अपने सहपाठियों के साथ खेल रहे रौनक गोपाल वैद्य नामक 8 वर्षीय बालक को, मोपेड पर सवार होकर स्कूल गेट के सामने खड़े 2 अज्ञातों ने हाथ की उंगलियों से इशारा करते हुए अपने पास बुलाया, जैसे ही बालक मोपेड के करीब गया, एक अपहरणकर्ता ने बच्चे को झटके से उठाकर मोपेड पर बिठा दिया, दुसरे अपहरणकर्ता ने मोपेड का एक्सिलेटर बढ़ा दिया और इस तरह रोते हुए बालक को पलक झपकते ही अज्ञात अपहरणकर्ता अपने साथ लेकर ओझल हो गए। घटना की जानकारी मिलते ही समूचे ग्राम घटेगांव और स्कूल में हड़कंप मच गया। स्कूल प्रशासन ने घटना की जानकारी पुलिस को दी।

अपहरणकर्ताओं को खोजने हेतु पुलिस ने जगह-जगह नाकाबंदी शुरू कर दी तथा घटनास्थल को अप्पर पुलिस अधीक्षक संदीप आटोले, उपविभागीय पुलिस अधिकारी प्रशांत ढोले, डुग्गीपार थाना प्रभारी विजय पवार, देवरी पुलिस निरीक्षक प्रमोद घोगे, सापोनि. किशोर पर्वेते, सापोनि. गर्जे, सापोनि. बघेले ने भेंट दी तथा अपहर्णित बालक की तालश हेतु 3 टीमें तैयार करते हुए रेल्वे स्टेशन, लॉज, होटल, ढ़ाबे आदि ठिकानों की चेकिंग शुरू की गई।
सूत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार सड़क अर्जुनी तहसील के ग्राम घटेगांव निवासी फर्यादी गोपाल ईश्‍वरदास वैद्य (38) का 8 वर्षीय पुत्र रौनक यह रोज की तरह जि.प. प्राथमिक शाला में अध्ययन हेतु सुबह 11 बजे आया था। मध्यहान भोजन के वक्त वह अपनी कक्षा 2 री के विद्यार्थियों के साथ स्कूल परिसर (ग्राउंड) में खेल रहा था कि तभी मोपेड पर सवार होकर आए 2 अज्ञात अपहरणकर्ताओं ने वारदात को अंजाम दे दिया।

गायब हुए बच्चे की कई तस्वीरे तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो गई, जिसके बाद इस घटना का असर गोंदिया में भी देखा गया और अभिभावक अपने बच्चों की स्कूल से सुरक्षित वापसी को लेकर चिंतित हो उठे। बहरहाल समाचार लिखे जाने तक अपहरणकर्ता पुलिस पकड़ से बाहर है।

डुुग्गीपार थाना कोतवाली पहुंच फर्यादी पिता गोपाल ईश्‍वरदास वैद्य ने 2 अज्ञातों के खिलाफ बेटे को जबरन अगवा किए जाने का मामला धारा 363, 34 के तहत दर्ज कराया है। मामले की तफ्तीश में जुटी पुलिस इस बात की भी जांच पड़ताल कर रही है कि, घटना के पीछे कोई आपसी रंजिश तो नहीं?
पुलिस ने लापता हुए बालक की खोजबीन शुरू कर दी है, लेकिन अब तक अपहरणकर्ताओं का कोई भी सुराग हाथ नहीं लगा है।

रवि आर्य