Published On : Wed, May 12th, 2021

गोंदिया: बारिश से चौपट फसलों और मकानों का जल्द निरीक्षण कर प्रभावितों को सहायता राशि प्रदान करें- फुके

विधायक परिणय फुके ने मुख्यमंत्री तथा मदद व पुनर्वसन मंत्री को लिखा पत्र


गोंदिया । जिले में गत 1 सप्ताह से मौसम के मिजाज बदले-बदले से है ,लगातार 4 दिनों तक आए तेज आंधी-तूफान के साथ बे-मौसम बारिश और ओलावृष्टि के कारण कवेलू व टीन शेड निर्मित्त अनेक कच्चे मकानों को जहां भारी नुकसान पहुंचा है वहीं खेतों में खड़ी फसलों पर भी खासा प्रभाव पड़ा है।

जिन किसानों ने धान की कटाई कर फसल को खेत परिसर में संग्रहित कर रखा था वो इस बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से बर्बाद हो गई है, इस आसमानी संकट से सब्जियों और बागों को भी भारी नुकसान पहुंचा है।

इस मामले को लेकर राज्य के पूर्व मंत्री तथा गोंदिया- भंडारा विधायक डॉ. परिणय फुके ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे व मदद व पुनर्वसन मंत्री विजय वडेटटीवार को पत्र प्रेषित करते हुए जिला प्रशासन को शीघ्र ही बारिश से चौपट हुई फसलों व क्षतिग्रस्त मकानों का निरीक्षण करते हुए पंचनामा रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश देकर पीड़ितों को आर्थिक सहायता राशि प्रदान करने की मांग की है।

विधायक डॉ. परिणय फुके ने पत्र में कहा है कि, जिले के अधिकांश किसान खेती पर ही निर्भर है तथा फसलों का उत्पादन ही उनकी आय का मुख्य स्त्रोत है।

धान उत्पादक किसान रबी सीजन के दौरान सरकार के आधारभूत धान खरीद केंद्र में अपने धान को बेचने के इंतजार में रहते है ताकि उसे निर्धारित दरों के साथ बोनस का लाभ भी प्राप्त हो सके, लेकिन शासन की धान खरीदी प्रक्रिया व मिलर्स के मिलिंग के मामलों में लचर कार्यप्रणाली से किसान बुरी तरह प्रभावित हुए हैं।

इस बीच अब बे-मौसम बारिश के कारण धान की कटी व खड़ी फसलें नष्ट हो गई है और आर्थिक संकट ने किसानों को फिर से प्रभावित किया है, परिणामस्वरूप, सरकार के खिलाफ किसानों में भारी असंतोष निर्माण है। लिहाजा सरकार, प्रशासन स्तर पर क्षतिग्रस्त फसलों और मकानों का जल्द से जल्द निरीक्षण करवाने के निर्देश देकर नुक्सानग्रस्त किसानों को आर्थिक सहायता राशि प्रदान कर उन्हें राहत प्रदान करें ऐसी मांग विधायक डॉ. फुके की ओर से की गई है।

रवि आर्य