Published On : Tue, Apr 20th, 2021

गोंदिया: ऑक्सीजन को तरसते कोरोना मरीजों के लिए राहत की खबर

ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट में दूसरी शिफ्ट में काम शुरू

गोंदिया यूं तो प्रशासन की प्रशंसा में कभी-कभार ही ऐसे प्रसंग होते हैं । कोरोना काल में ऑक्सीजन को तरसते गोंदिया जिले के मरीजों के लिए राहत की सांस लेने वाली बड़ी खबर यह है कि- शहर के फूलचूर इलाके में स्थित श्याम ऑक्सीजन इंटरप्राइजेस के रिफिलिंग प्लांट में 19 अप्रैल सोमवार रात 9 बजे से दूसरी शिफ्ट में ऑक्सीजन रिफिलिंग का काम शुरू कर दिया गया है।

इस प्लांट में दूसरी पारी शुरू होने से अब गोंदिया के शासकीय और निजी अस्पतालों सहित जिले के अन्य स्वास्थ्य केंद्रों को भी लाभ मिलेगा ।
ऐसे में यह उम्मीद की जानी चाहिए कि अब नियमित और समयबद्ध तरीके से ऑक्सीजन लिक्विड टैंकरों के गोंदिया पहुंचने के बाद इससे ऑक्सीजन की कमी नहीं होगी । गोंदिया कलेक्टर की पहल पर राजस्व विभाग अधिकारियों की निगरानी में टीम बनाई गई है जो प्लांट के बाहरी अर्थात सप्लाय स्ट्रक्चर के काम में भी तेजी लायेगी ।


उल्लेखनीय है कि गोंदिया जिले में मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं यह आंकड़ा 20 अप्रैल मंगलवार को 924 पर जा पहुंचा है ऐसे में ऑक्सीजन की जरूरत बढ़ रही है इस ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट में जरूरी आवश्यक संसाधन और मशीनरी तो है लेकिन इस प्लांट को दूसरी शिफ्ट में काम करने हेतु ट्रेंड तज्ञ तकनीकी कर्मचारी और श्रम शक्ति के अभाव का सामना करना पड़ रहा था तथा श्याम इंटरप्राइजेज को टेक्नीशियनों और कुशल कर्मचारियों की जरूरत थी ।

कलेक्टर दीपक कुमार मीणा की पहल तथा बीमार कोरोना मरीजों की जिंदगी को देखते हुए त्वरित इस कमी को पूरा करने हेतु अदानी पावर तिरोड़ा सामने आया तथा जिलाधिकारी के सुझाव पर अदानी पावर कंपनी ने तकनीशियनों और कुशल कर्मचारियों की मदद अपने प्लांट से उपलब्ध कराई।
उपविभागीय अधिकारी गोंदिया श्रीमती वंदना सरंगपते तथा तहसीलदार आदेश डफल के निर्देश पर राजस्व कर्मचारियों ने टेक्नीशियन व तज्ञ कर्मचारियों के परिवहन ,भोजन व आवास की व्यवस्था सुनिश्चित की है।

जैसे ही लिक्विड ऑक्सीजन की नागपुर और बाहर से आपूर्ति उपलब्ध होती है वैसे ही इस यूनिट में स्थापित कंप्रेसर मशीन व अन्य उपकरणों के जरिए जंबो आक्सीजन सिलेंडरों की रिफलिंग दूसरी शिफ्ट में भी तैयार किए जाने का काम शुरू हो चुका है , यह ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे गोंदिया जिले के लिए एक बड़ी राहत की खबर है।

रवि आर्य