Published On : Sun, Aug 2nd, 2020

गोंदिया: खून का बदला खून

2 माह बाद बेटे ने लिया बाप की हत्या का बदला

गोंदिया । जिले में अपराध पर लगाम लगाने की तमाम कोशिशें नाकाम होती दिखाई दे रही है, एक ही रात में गोंदिया तथा गोरेगांव में घटित क़त्ल की 2 वारदातों से खलबली मची हुई है।

जरा सोचिए अपराध की कार्यशैली में क्या फर्क रह जाता है अगर खून का बदला खून होगा और हाथों में चाकू लेकर असामाजिक तत्व सड़कों पर खुद ही इंसाफ करने निकल पड़ेंगे।

मामला कुछ यूं है कि.. आपसी पुराने विवाद में एक पक्ष के 5 लोगों ने मिलकर जून 2020 में शास्त्री वार्ड के पटेल चौक इलाके में दो युवकों पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया था , झगड़ा छुड़ाने और मध्यस्थता करने गए 65 वर्षीय बुजुर्ग की लाठी-डंडों से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी , इस हत्याकांड का एक आरोपी इमरान यह सेंट्रल जेल से परसों 30 जुलाई को जमानत पर रिहा होकर घर आया था इसकी जानकारी मिलने पर पिता की हत्या का बदला लेने के लिए उसके बेटे जयदीप ने अपने दो साथियों के साथ शनिवार 1 अगस्त रात 9:00 बजे शास्त्री वार्ड के मजदूर भवन के पास इमरान को घेर लिया तथा चाकुओं से गोदकर उसकी हत्या कर दी।

खून का बदला खून के सनसनीखेज वारदात से परिसर में खलबली मच गई ।


जिला पुलिस अधीक्षक मंगेश शिंदे के मार्गदर्शन तथा उपविभागीय पोलीस अधिकारी जगदीश पांडे के नेतृत्व में टीमें तैयार कर आरोपियों की जगह -जगह तलाशी शुरू की गई । सहायक पुलिस निरीक्षक कैलाश गवते , नितिन सावंत , विवेक नार्वेकर तथा डीबी स्कॉट के पुलिस कर्मचारी- ओमेश्वर मेश्राम , राजू मिश्रा ,जागेश्वर उईके , सुबोध बिसेन , छगन विठठले , तुलसीदास लुटे , महेश मेहर , योगेश बिसेन , रोबिन माटे, विनोद सहारे की टीम ने फुलचुर नाके के पास रात 12:00 बजे तीनों आरोपियों को एक साथ घूमते हुए धर दबोचा तथा 3 घंटे में इस मर्डर केस की गुत्थी को सुलझाते हुए जिन औजारों से इमरान के शरीर पर 20 घाव किए गए, वह हथियार भी आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने बरामद कर लिए है ।

मृतक युवक इमरान (19 ,गरीब नवाज चौक , संजय नगर) की फरियादी मां के शिकायत पर सिटी पुलिस ने आरोपी जयदीप , लक्की और एक 17 वर्षीय नाबालिग आरोपी इन तीनों के खिलाफ धारा 302, 34 का जुर्म दर्ज किया है

मामले की जांच तेजतर्रार पुलिस अफसर नितिन सावंत कर रहे हैं।

खर्रा नहीं देने पर दोस्त का मर्डर ‌

कत्ल की दूसरी वारदात 1 अगस्त शनिवार रात 8:00 से 8:30 के दौरान गोरेगांव में घटित हुई। थाना निरीक्षक नारनवरे ने जानकारी देते बताया- विकास नामक युवक यह पानठेले से खर्रा गुटखा लेकर निकल गया था, रास्ते में उसके दोस्त ओमेश्वर ने विकास से खर्रा मांगा जिसपर उसने देने से इंकार कर दिया, इसे लेकर दोनों के बीच गाली गलोच हुई।

आक्रोशित ओमेश्वर ने अपने पास मौजूद चाकू से विकास पर हमला कर दिया , हाथ की नस कट जाने से और अत्यधिक रक्तस्राव के वजह से उसकी मृत्यु हो गई।

आरोपी को डिटेन कर लिया गया है हथियार (चाकू) उसने कहीं पानी में फेंक दिया है जिसकी तलाश की जा रही है पुलिस के मुताबिक दोनों ही गोरेगांव के वार्ड नंबर तीन के निवासी हैं और दोनों दोस्त हैं।
बहरहाल आरोपी के विरुद्ध धारा 302 का मामला दर्ज किया गया है प्रकरण की जांच सहायक पुलिस निरीक्षक थोरात कर रहे हैं।

रवि आर्य