Published On : Fri, Feb 14th, 2020

गोंदियाः गंदा है पर धंधा है ये

अवैध रूप से संग्रहित कर रखा गया कच्चा लोहा जप्त

गोंदिया: स्पंज आयरन यह कच्चा लोहा है। लोह अयस्क को गलाकर उसमें से आक्सीजन निकालने के बाद जो धातु बचती है, उसे स्पंज आयरन कहा जाता है। इसी स्पंज आयरन से स्टील का निर्माण कार्य किया जाता है।

लोह अयस्क और छर्रे का इस्तेमाल पुलों, कारों, विमानों, साइकिल, घरेलु उपकरण और बहुुत कुछ वस्तूओं के निर्माण में किया जाता है, या यू कहें लोह अयस्क (छर्रे) इस्पात उत्पादन प्रक्रिया के लिए मौलिक है।

गोेंदिया जिले से लोह अयस्क की अवैध रूप से चोरी के मामले पहले भी सामने आते रहे है। एैसे ही एक मामले का पर्दाफाश आज शुक्रवार १४ फरवरी को देवरी पुलिस द्वारा किया गया।

खबरी से देवरी पुलिस को इस बात की गोपनीय जानकारी मिली कि, उत्तरप्रदेश निवासी एक व्यक्ति ने डुग्गीपार थाना क्षेत्र अंतर्गत कोहमारा से वड़सा की ओर जाने वाले राज्यमार्ग पर स्थित ग्राम बानटोला (कोहडीटोला) परिसर में आने-जाने वाले ट्रक चालकों से मिलीभगत करते हुए अवैध रूप से स्पंज आर्यन (कच्चा लोहा गोली) संग्रहित कर रखा है।

गौरतलब है कि, स्पंज आर्यन की खरीदी-बिक्री बिल के बिना कारखानों के अतिरिक्त सार्वजनिक स्थानों पर नहीं की जा सकती, लेकिन आरोप मोहम्मद (रा. मजवा, मनकापुर जि. गोंडा उत्तरप्रदेश) यह ग्राम बानटोला /कोहडीटोला निवासी बाबुराव नामक किसान का खेत लीज पर लेकर माल की ढुलाई करने वाले ट्रक चालकों के साथ मिलीभगत कर चोरी के स्पंज आर्यन की खरीदी करते हुए इस कच्चे लोह को अवैध रूप से संग्रहित कर रखा था। पुलिस ने उक्त स्थान पर दबिश देकर संग्रहित कर रखा गया ७ टन ५०० किलो स्पंज आर्यन (कीमत ३३, ७५० रूप) व अन्य साहित्य सहित कुल ३४,६०० रूपये का माल जब्त किया।

इस संदर्भ में डुग्गीपार थाने में धारा ३७९, ४११ के तहत मामला पंजीबद्ध करते हुए आरोपी को हिरासत में लिया गया है। उक्त कार्रवाई उपविभागीय पुलिस अधिकारी देवरी के नेतृत्व में पो.ह. राधेश्याम गाते, वामन पारधी, पो.ना. रऊफ पठान, पो.ना. रविंद्र दहिफडे आदि ने की।

रवि आर्य