Published On : Sat, Jun 12th, 2021

गोंदिया:अधिकृत एजेंट , फर्जी आईडी से रेलवे ई-टिकट बनाते पकड़ाया

4 वर्षों से कर रहा है था टिकट दलाली का गोरखधंधा , रेलवे क्राइम ब्रांच ने दबोचा

गोंदिया। यात्रियों से अधिक रूपये लेकर कन्फर्म टिकिट उपलब्ध कराने वाले ई-टिकट दलालों के खिलाफ रेलवे सुरक्षा बल द्वारा लगातार कार्रवाई की जा रही है।

इसी क्रम में गोंदिया आरपीएफ के क्राईम ब्रांच ने छत्तीसगढ़ राज्य के राजनंदगांव जिले के बसंतपुर थाना अंतर्गत आने वाले चौखड़िया पारा में कार्रवाई करते हुए आईआरसीटीसी के अधिकृत एजेंट को गिरफ्तार किया है।

उक्त एजेंट द्वारा गत 4 वर्षों से अधिकृत आईडी के अतिरिक्त 2 अलग-अलग पर्सनल फर्जी आईडी बनाकर रेलवे ई-टिकिट का काला कारोबार किया जा रहा था, इस संदर्भ में गोपनीय जानकारी मिलने पर उच्च अधिकारियों के मार्गदर्शन में अपराध गुप्तचर शाखा रेसुब गोंदिया के निरीक्षक अनिल पाटिल तथा उपनिरीक्षक के.के. दुबे, प्रधान आरक्षक आर.सी. कटरे एंव आरक्षक एस.बी. मेश्राम ने 11 जून को राजनंदगांव शहर के चौखड़िया पारा इलाके में पहुंचकर छापामार कार्रवाई की।

तलाशी के दौरान धीरज (29 रा. चौखड़िया पारा पो. बसंतपुर जि. राजनंदगांव) नामक अधिकृत एजेंट के पास से अलग-अलग 2 पर्सनल फर्जी आईडी द्वारा बनायी गई 4 ई-टिकिट भी बरामद की गई जिसका मूल्य 5601 रूपये आंका गया है।

उक्त आरोपी यह अधिक लाभ कमाने के लिए आईआरसीटीसी की अधिकृत आईडी से बुकिंग न करते हुए अपनी पर्सनल फर्जी आईडी से ई-टिकिट बनाकर ग्राहकों को उपलब्ध करवा रहा था तथा उनसे यात्रा की दूरी के हिसाब से किराया राशि के अतिरिक्त 100 से 200 रूपये वसूल करता था।

बहरहाल मामला रेलवे टिकट के अवैध कारोबार का होने पर उसे आगे की कार्रवाई हेतु राजनंदगांव रेसुब पोस्ट के सुपुर्द किया गया है तथा इस संदर्भ में अब आरोपी के खिलाफ अ.क्र. 32/2021 की धारा 143 रेल अधिनियम के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया है।

रवि आर्य