Published On : Tue, Nov 24th, 2020

गोंदिया : वक्त रहते नक्सलियों के बारूदी सुरंग का हुआ पर्दाफाश

पुलिस गश्ती दल पर थी हमले की योजना, विस्फोटक बरामद

गोंदिया महाराष्ट्र के अंतिम छोर पर बसे नक्सल प्रभावित गोंदिया जिले और छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले की सरहदीय सीमा आपस में लगी हुई है ।
गोंदिया- भंडारा में जिला परिषद और पंचायत समिति चुनाव की सरगर्मी तेज हो गई है ऐसे में बॉर्डर पर रात्रि गश्त बढ़ा दी गई है तथा जिला पुलिस प्रशासन बेहद अलर्ट है और हर संदिग्ध नक्सल गतिविधि पर अपनी नजर बनाए हुए हैं।

Advertisement

गोंदिया जिला पुलिस प्रशासन का खुफिया तंत्र काम कर गया, लिहाज़ा मुखबिर से मिली पुख्ता जानकारी के बाद समय रहते गोंदिया तथा राजनंदगांव पुलिस ने संयुक्त सर्च अभियान चलाया हैं और विस्फोटक सामग्री बरामद करते हुए नक्सलियों के खतरनाक मंसूबों को नाकाम कर दिया गया।

हुआ यूं कि- गोंदिया अप्पर पुलिस अधीक्षक अतुल कुलकर्णी इन्हें गुप्तचर से इस बात की पुख्ता जानकारी मिली कि, गोंदिया जिले से सटे छत्तीसगढ़ राज्य के राजनंदगांव जिले के गातापार पुलिस स्टेशन अंतर्गत आने वाले कहुआभरा जंगल परिसर में नक्सलियों द्वारा बड़ी हिंसक वारदात को अंजाम देने तथा पुलिस पार्टी पर घात लगाकर हमला करने के उद्देश्य से बारूदी सुरंग बिछाए गए है। सूचना मिलते ही जिला पुलिस प्रशासन हरकत में आ गया।

जिला पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे, राजनंदगांव जिला पुलिस अधीक्षक डी. श्रवण, गोंदिया अप्पर पुलिस अधीक्षक अतुल कुलकर्णी के मार्गदर्शन में नक्सल सेल देवरी तथा राजनंदगांव (छ.ग) पुलिस की ओर से आज मंगलवार 24 नवंबर को कहुआभरा जंगल के बीच मेटल डिटेक्टर जैसे सुरक्षा उपकरणों के साथ संयुक्त सर्च ऑपरेशन चलाया गया। इस दौरान जंगल परिसर के भीतर कुछ संदिग्ध वस्तुएं दिखायी दी जिसपर बी.डी.डी.एस. पथक की मदद से एहतियाती कदम उठाते हुए इलाके का बारिकी से निरीक्षण किया गया तो पुलिस पेट्रोलिंग पार्टी को जान से मारने के इरादे से जमीन के भीतर छुपाकर रखा गया विस्फोटक साहित्य बरामद किया गया।

उक्त साहित्य को बाहर निकाला गया , जिसमें भरमार बंदूक का बैरल, हैंडहेल्ड ग्रेनेड , आऊटर कवर, इलेक्ट्रिक वायर, सोलर प्लेट, इलेक्ट्रिक टेप रोल, स्वीचेस, नक्सल पुस्तकें, नीले कलर का बड़ा ड्रम, इलेक्ट्रिक बैटरीयां आदि सामग्री बरामद की गई। चूंकि घटनास्थल राजनांदगांव जिले के वन क्षेत्र में आता है इसलिए आगे की जांच राजनंदगांव पुलिस कर रही है।

उक्त कार्रवाई गोंदिया जिला पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे, राजनंदगांव पुलिस अधीक्षक डी. श्रवण, गोंदिया अप्पर पुलिस अधीक्षक अतुल कुलकर्णी के मार्गदर्शन में नक्सल सेल देवरी तथा राजनंदगांव जिला पुलिस के अधिकारी व कर्मचारियों की ओर से की गई।

रवि आर्य

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement