Published On : Fri, Apr 19th, 2019

गोंदिया अंधश्रद्धा की मार, दुष्कर्मी तांत्रिक गिरफ्तार

उपचार के बहाने किशोरी की 5 दिनों तक अस्मत लूटी

गोंदिया: परिवार को भूत-प्रेत का भय दिखाकर एक 17 वर्षीय अस्वस्थ युवती के साथ लगातार 5 दिनों तक रेप करनेवाले एक ढोंगी तांत्रिक बाबा का खेल खत्म हो गया, अब वह भंडारा सेंट्रल जेल की सलाखों के पीछे हवालात की हवा खा रहा है।

अंधश्रद्धा का शिकार एक परिवार गोंदिया से सटे ग्र्राम फुलचुर निवासी ढोंगी तांत्रिक लंकेश के चक्कर में आ गया। पीड़ित परिवार की 17 वर्षीय बेटी यह गत कुछ अरसे से छाती में गांठ हो जाने से बीमारी से ग्रस्त थी, इसकी जानकारी तांत्रिक को लगने पर उसने 27 मार्च को परिवार से संपर्क साथा और बिना खर्चिले ऑपरेशन के ही उपचार का दावा कर दिया।

जब पीड़ित लड़की का पिता व उसका काका कामकाज के सिलसिले में बाहर गए तब वह ढोंगी बाबा उपचार के बहाने किशोरी के घर गया और तंत्र-मंत्र की दुकान सजा ली तथा रात होते ही उसने घर में मौजुद परिवार के सदस्यों को एक काले रंग की औषधी (गोली) खाने को दी जिसका सेवन करते ही घर में मौजुद सदस्य गहरी बेहोशी की अवस्था में चले गए। सूने मौके का लाभ उठाकर तांत्रिक ने उपचार के नाम पर किशोरी के साथ जबरन बलपूर्वक दुष्कर्म कर दिया।

ढोंगी तांत्रिक ने तंत्र-मंत्र और पूजा पाठ के नाम पर एैसा डर और भय का जाल बूना कि, परिवार उसके झांसे में आ गया और तांत्रिक के कहने पर परिवार ने घर के दरवाजे के बाहर ताला तक लगा दिया जिससे पड़ोसियों को लगा, सारा परिवार बाहर गांव शायद घुमने गया है।

मकान के भीतर ही आरोपी तांत्रिक ने मजदूर परिवार की किशोरी को कमरे में बंधक बनाकर रखा था तथा हर रात काली करतूत करने से पहले वह घर में मौजुद सदस्यों को गोली गटकने हेतु विवश कर देता, जिससे घर में मौजुद 2 नाबालिग बच्चे, महिलाएं और पीड़ित लड़की की मौसी तक ढोंगी तांत्रिक का कोई विरोध नहीं कर पाया और आरोपी उपचार के बहाने लगातार 5 दिनों तक किशोरी की अस्मत लूटता रहा।

घटना का खुलासा तब हुआ जब पीड़ित किशोरी का पिता और काका बाहर गांव से घर लौटे तो उन्होंने मकान के बाहर ताला लगा देखा। जब पड़ोसियों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया, घर पर एक सप्ताह से ताला लटक रहा है। पीड़ित किशोरी के पिता ने जब ताला तोड़ा और भीतर प्रवेश किया तो घर के सदस्य बेहोशी की अवस्था में पड़े थे तथा आरोपी एक कोने में मौजुद था। हालात देखकर घर के पुरूष सदस्यों को माजरा समझते देर नहीं लगी और ढोंगी तांत्रिक की मौहल्ले वालों ने भी जमकर धुनाई कर दी और उसे पुलिस के सुपुर्द किया। दुष्कर्म की शिकार हुई अस्वस्थ युवती को उपचार हेतु गोंदिया जिला मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने मेडिकल जांच के बाद पीड़ित परिवार की शिकायत और डॉक्टरी परिक्षण रिपोर्ट आधार पर इंसानियत को शर्मसार करने वाले ढोंगी तांत्रिक लंकेश के खिलाफ धारा 376 (2) (जे) (एन) 342, 506, सहकलम बाललैंगिक अत्याचार अधिनियम की धारा 4, 6 का जुर्म दर्ज करते उसे अदालत में पेश किया। कोर्ट से मिली 4 दिनों की पुलिस रिमांड के बाद आरोपी से 15 अप्रैल तक उसकी करतूतों के संदर्भ में गहन पूछताछ की गई। अब इस ढोंगी तांत्रिक को भंडारा जिला कारागृह में सलाखों के पीछे पहुंचा दिया गया है।

– रवि आर्य