Published On : Thu, Apr 16th, 2020

गोंदिया: अलविदा पापा.. 5 बेटियों ने दिया पिता की अर्थी को कंधा

सारी परंपराएं तोड़ , दी मुखाग्नि

गोंदिया : लाकडाउन के बीच गोंदिया से सटे ग्राम कटंगी में सारी परंपराओं को तोड़ते हुए आज पांच बेटियों ने अपने पिता की अर्थी को कंधा देकर ना केवल मोक्षधाम पहुंचाया बल्कि मुखाग्नि देकर पुत्र का दायित्व भी निभाया । श्मशान घाट में यह दृश्य देखकर वहां मौजूद हर व्यक्ति की आंखें नम थी ।

वाकया कुछ यूं है कि गोंदिया से सटे तहसील के ग्राम कटंगी निवासी सेवानिवृत्त हेडमास्टर लोकचंद्र यादव का आज गुरुवार 16 अप्रैल तड़के 3 बजे निधन हो गया।


चूंकि सेवानिवृत्त हेड मास्टर का कोई बेटा नहीं है तथा उन्हें 6 बेटियां हैं और एक बेटी छत्तीसगढ़ के भिलाई में रहती है जो लाकडाउन की वजह से अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सकी ऐसे में सवाल उठा कि अंतिम संस्कार के रस्में में कौन पूरी करेगा ?

बेटियों को अपने पिता से इतनी मोहब्बत थी कि उन्होंने खुद पिता की अर्थी को कंधा देकर ना सिर्फ मोक्षधाम पहुंचाया बल्कि सारी हिंदू परंपरा की रस्में पूरी कर मुखाग्नि भी दी और समाज के सामने एक आदर्श प्रस्तुत किया।

पिता के निधन के बाद पांच बेटियों ने दुखों के पहाड़ के बीच धैर्य रखते हुए, अंतिम संस्कार की सारी रस्में पूरी की ।

इस अवसर पर श्मशान घाट में परिवार के सदस्यों सहित अखिलेश सेठ, राजा पिल्लेवार , प्रेम नागपुरे, ओम फुंडे, मुन्ना यादव, संतोष सौतकर, विनोद अहीर, आदि भी मौजूद थे।

रवि आर्य