Published On : Sat, Jun 3rd, 2023

गोंदिया: ‘ बंदूक छोड़ – थामी कलम ‘ है पुलिस अधिकारी बनने का सपना

कभी नक्सल दस्ते का हिस्सा रही आत्मसमर्पण करने वाली आदिवासी लड़की कु. राजुला हलामी ने पास की 12वीं बोर्ड परीक्षा , जताई पुलिस अधिकारी बनने की इच्छा
Advertisement

गोंदिया: बारहवीं बोर्ड परीक्षा के परिणाम घोषित हुए जिसमें कभी नक्सल दस्ते का हिस्सा रही आत्मासमर्पित नक्सली कु. राजुला उर्फ अनीता रवेलसिंह हिलामी ने 46 फ़ीसदी अंक हासिल कर बोर्ड परीक्षा पास कर ली है। बता दें कि गड़चिरौली जिले के ग्राम लवारी पोस्ट पुराणा के तहसील कुरखेड़ा निवासी राजुला हलामी को अपने गांव के पास जानवरों को चराते वक्त जुलाई 2017 में नक्सलियों ने अगवा कर लिया था और उसे जबरन कुरखेड़ा- कोरची- देवरी ( केकेडी ) दलम में भर्ती कर हथियार चलाने का प्रशिक्षण दिया था तथा वह कथित रूप से पुलिस के खिलाफ एक हिंसा की वारदात में भी शामिल थी।

Advertisement

लेकिन नक्सलियों के साथ रहने के दौरान उन्हें जंगलों में जिन मुश्किलों का सामना करना पड़ा वह उससे तंग आ चुकी थी तथा नक्सल आंदोलन में उसकी कोई दिलचस्पी नहीं थी इसलिए 24 अगस्त 2018 को गोंदिया जिला पुलिस के सामने उसने आत्मसमर्पण किया था। आत्मसमर्पण करने के बाद तत्कालीन पुलिस अधीक्षक हरीश बैजल तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आटोले के प्रयासों से कु. राजुला हलामी का पुनर्वास किया गया । उसकी कच्ची उम्र को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने आत्मसमर्पण पश्चात उसकी काउंसलिंग की ओर चूंकि वह सातवीं क्लास तक पढ़ी हुई थी लिहाज़ा एक सरकारी स्कूल में आठवीं कक्षा में उसकी अध्ययन हेतु एडमिशन कराई।

पढ़ने में उसकी रुचि थी इसलिए जिला पुलिस बल ने उसकी नियमित शिक्षा हेतु मदद की , जून 2021 में दसवीं बोर्ड परीक्षा में 51.80 फ़ीसदी अंक हासिल कर उसने परीक्षा उत्तीर्ण की। इसी तरह मनोहरभाई पटेल जूनियर कॉलेज देवरी में पढ़ाई के दौरान उसने 2023 में 12वीं की परीक्षा में 46% अंक हासिल किए और परीक्षा उत्तीर्ण की। इस तरह माओवादी विचारधारा को नकारते हुए हिंसा का रास्ता छोड़कर आत्मसमर्पण करने के बाद अब कु..राजुला शिक्षा के क्षेत्र में निरंतर आगे बढ़ रही है। बारहवीं बोर्ड परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद 27 मई को जिला पुलिस अधीक्षक निखिल पिंगले व श्रीमती समृद्धि निखिल पिंगले के हस्ते कु. राजुला का सत्कार किया गया और उसे भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी गई। इस मौके पर राजुला ने अपने विचार व्यक्त करते हुए स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद पुलिस बल में शामिल होकर पुलिस अधिकारी बनने की इच्छा व्यक्त की जिस पर जिला पुलिस अधीक्षक पिंगले ने आगे की शिक्षा के लिए हर संभव मदद का आश्वासन दिया। सत्कार कार्यक्रम अवसर पर पुलिस निरीक्षक दिनेश तायड़े , श्रीकांत हत्तीमारे सहित बड़ी संख्या में जिला नक्सल सेल के पुलिस अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे ‌।

रवि आर्य