Published On : Sun, Feb 21st, 2021

गोंदिया: पुलिस नक्सलियों के बीच मुठभेड़

दोनों ओर से हुई अंधाधुंध गोलीबारी ,कोई हताहत नहीं

गोंदिया: जिले के नक्सल प्रभावित अतिदुर्गम सालेकसा तहसील अंतर्गत आने वाले अम्बाटोला जंगल परिसर में आज रविवार 21 फरवरी के सुबह 8 बजे के दौरान पुलिस और नक्सलियों के बीच जबरदस्त मुठभेड़ हुई।

सालेकसा थाने के सहायक पुलिस निरीक्षक प्रमोदकुमार बघेले व उनकी टीम को गुप्तचर से इस बात की पुख्ता जानकारी मिली कि, प्रतिबंधित माओवादी नक्सली संगठन के जुड़े महिला -पुरूष नक्सलवादी हाजराफाल, कोपालगढ़, मरामजोब, महामाया पहाड़ी टॉवर लाईन इलाके में किसी बड़ी हिंसक वारदात को अंजाम देने के इरादे से डेरा डाले हुए है।


सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन हरकत में आ गया और जिला पुलिस अधीक्षक विश्‍व पानसरे, अपर अधीक्षक अतुल कुलकर्णी के निर्देश पर विशेष अभियान दल सालेकसा के तुरकर पथक, नवेगांवबांध के कांटगे पथक, बीडीडीएस पथक गोंदिया की ओर से जंगल परिसर में सर्च अभियान शुरू किया गया।

सुबह लगभग 8 बजे के दौरान अम्बाटोला जंगल परिसर के निकट पुलिस टीम को 50 मीटर दूरी पर भारत सरकार प्रतिबंधित माओवादी नक्सली संगठन के हरे गणवेशधारी 18 से 20 महिला पुरूष नक्सलवादी दिखायी दिए जिन्हें पुलिस ने आत्मसमर्पण करने की चेतावनी दी किन्तु शस्त्रधारी नक्सलियों ने जान लेने के उद्देश्य पुलिस पार्टी पर अंधाधूंध गोलीबारी शुरू कर दी।

अपने बचाव में पुलिस ने भी बूलेट का जवाब बूलेट से देते हुए जवाबी कार्रवाई शुरू की। दोनों ओर से अनेकों राऊंड फायर किए गए लेकिन पुलिस के बढ़ते दबाव ने नक्सलियों को भागने हेतु मजबूर कर दिया और जंगल में झाड़ियों के बीच भाग खड़े हुए।

बहरहाल घटनास्थल पर सर्चिंग ऑपरेशन शुरू है तथा दर्रेकसा दलम व प्लाटून 55 दलम के 18 से 20 आरोपी नक्सलियों के खिलाफ सालेकसा थाने में विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। आगे की जांच पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे के मार्गदर्शन में उपविभागीय पुलिस अधिकारी जगदीश पांडे की ओर से की जा रही है।

वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन व दिशा-निर्देशों पर उक्त कार्रवाई सालेकसा थाने के सपोनि प्रमोदकुमार बघेले, विशेष अभियान के तुरकर पथक , कांटगे पथक, बीडीडीएस पथक के अधिकारियों व जवानों की ओर से की गई।

-रवि आर्य