| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Oct 14th, 2019
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    गोंदियाः पिछले चुनाव में ट्रेलर देखा इस चुनाव में फिल्म दिखेगी

    ( नाना पटोले के गढ़ में चुनावी सभा लेकर गरजे मोदी )

    रविवार 13 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भंडारा जिले के साकोली विधानसभा क्षेत्र में नाना पटोले के गढ़ में चुनावी सभा लेकर जमकर गरजे मोदी जी का सारा भाषण किसानों की ज्वलंत समस्याओं के इर्द-गिर्द रहा। उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत कुछ इस अंदाज में की …झाडीपट्टी क्षेत्र के सभी धान उत्पादक किसानों को मेरा विशेष नमस्कार ..इस वर्ष धान का उत्पादन सही में अच्छा है ना ?देवेंद्र ने जो धान पर बोनस घोषित किया आप उससे खुश है ना ? पब्लिक ने मोदीजी के आवाज से सुर में सुर मिलाते कहा … हां ? पीछे इतनी भीड़ है जहां तक नजर घुमाओ लोग ही लोग हैं। साथियों आज आपने सच में कमाल कर दिया है, लोकसभा चुनाव में गोंदिया आया था आपने इतना स्नेह -इतना प्यार दिया कि सारे पॉलिटिकल पंडितों के समीकरण ही गड़बड़ा गए और आज जिस बड़ी संख्या में आप लोग आए हैं उससे साफ जाहिर है कि चुनाव का परिणाम क्या होने वाला है ?

    आज महायुति की सरकार को दोबारा समर्थन के आग्रह के साथ में पिछले चुनाव में मिले उस आशीष के लिए भी आप सभी का आभार व्यक्त करने आपके बीच आया हूं , आपने भाजपा पर जो निरंतर विश्वास दिखाया है उसके लिए में शीश झुकाकर प्रणाम करता हूं।

    भाइयों पूरी दुनिया के लिए चुनौतियों का समय है लेकिन भारत चुनौतियों से निपटने में अधिक सक्षम दिख रहा है यह सब कुछ हो पा रहा है आप सभी के विश्वास के कारण जो हमें निरंतर बड़े फैसले लेने की शक्ति दे रहा है और ऐसे मजबूत कदम उठाने में हम सक्षम हुए हैं जो पहले की सरकारें(लोग) लेने से डरते थे झिझकते थे ।

    आज से 5 वर्ष पहले में आया था तो मैंने आपसे कहा था आप हमें महाराष्ट्र में अवसर दीजिए हम आपको स्थिर सरकार और योग्य नेतृत्व देंगे ? आपने जो हम पर विश्वास किया उसी का परिणाम है कि देवेंद्र फडणवीस जैसा मजबूत नेतृत्व महाराष्ट्र को मिला है जो समग्रता , संपूर्णता के साथ सामाजिक काम कर रहा है। बांटने और छांटने वालों की राजनीति अब अतीत हो गई है कांग्रेस की नीतियों पर कटाक्ष करते और बिना नाना पटोले का नाम लेते प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- बांटने और छांटने वालों की राजनीति अब अतीत हो गई है और इसका ट्रेलर आप सभी ने पिछले इलेक्शन में दिखा दिया था और इस चुनाव में आप लोग पूरी फिल्म दिखाने वाले हैं।

    जो काम करेगा उसको ही आपका विश्वास मिलेगा यह सिद्ध हो चुका है , इसको लेकर अब देश में कोई शंका या आशंका नहीं है ? 5 वर्ष पहले हमने सबका साथ- सबका विकास के मंत्र पर काम शुरू किया था अब इस मंत्र को 130 करोड़ भारतीयों का विश्वास भी मिल गया है इसी विश्वास के साथ महाराष्ट्र सहित पूरे देश में हम नई ऊर्जा के साथ काम कर , तेजी से आगे बढ़ रहे है। साथियों यह आज सच है कि महाराष्ट्र के घर घर में शौचालय पहुंचे हैं , गरीब से गरीब का घर भी बिजली से रोशन हुआ है , बहनों की रसोई भी एलपीजी गैस पर पक रही है , वह व्यक्ति जिसके लिए कभी अपना घर सपना हुआ करता था उसको पक्के घर का विश्वास भी मिला है और आस भी जगी है ।

    वह गरीब जिसके लिए अस्पताल में जाकर इलाज कराना असंभव लगता था वह आज अच्छे अस्पताल में मुफ्त इलाज का हकदार बन गया है यह सारी बातें आज हकीकत है । यह सारी सुविधाएं सिर्फ जनकल्याण तक सीमित नहीं है बल्कि इसकी सोच बहुत व्यापक है। आज हमारी हर नीति जन कल्याण से राष्ट्र कल्याण की है साकोली की जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा-आज हमारी हर नीति जनकल्याण से राष्ट्र निर्माण की है ? चाहे गरीबों के घर का निर्माण हो , शौचालय का निर्माण हो, एलपीजी गैस कनेक्शन हो , हर घर बिजली कनेक्शन हो , गरीबों का मुफ्त इलाज हो , हर परिवार का बैंक खाता हो , इन सभी तमाम योजनाओं के केंद्र में आज गरीब है सामान्य जन है और यह गरीब कौन है ? यह कहां का है ? इसका रंग कौन सा है ? रूप कौन सा है ?जाति कौन सी है ? वर्ग कौन सा है ? संप्रदाय कौन सा है? यह हमारे लिए भारत का नागरिक है ।

    हमारे लिए हमारा किसान है , आदिवासी है, वंचित है , शोषित है , पीड़ित है , यह हमारा परिवार है, हमारे परिवार का अटूट हिस्सा है यही भावना डॉ. बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर , संत तुकाराम , संत संताजी की थी।

    देश के सामान्य मानवीय का सशक्तिकरण हम कैसे कर रहे हैं इसका एक उदाहरण देता हूं ? साथियों- किसानों के लिए जो पहले योजनाएं बनती थी उस पर तुरंत की जरूरतों पर ध्यान दिया जाता था इस वजह से उन योजनाओं का व्यापक और दूरगामी लाभ नहीं पहुंच पाता था हमने स्थिति को बदलने का गंभीर प्रयास किया हमने किसानों की समस्याओं के संपूर्ण निराकरण पर कदम उठाए ।

    सिंचाई से लेकर कमाई तक ? एक बड़े विजन पर काम किया जा रहा है सिंचाई के क्षेत्र में भंडारा- गोंदिया में कितना काम हुआ है इसे आप से भला कौन जान सकता है ? आप सभी साक्षी रहे हैं यह गोसीखुर्द परियोजना कितने दशकों से अटकी पड़ी थी लेकिन आज यह डैम भी बन चुका है और भंडारा के साथ-साथ नागपुर और चंद्रपुर जिले के किसानों को भी लाभ पहुंच रहा है। हमने जल शक्ति मंत्रालय बनाया जल संपदा के संरक्षण और उसके निर्माण की गति को तेज करने के लिए अब हमने 2 बड़े कदम उठाए हैं पहले पानी के मामलों को लेकर अलग-अलग मंत्रालय ( विभाग ) देखते थे सब बिखरा हुआ था , फाइलों में पड़ा था और एक असर यह भी था कि पानी से जुड़ी योजनाएं सुलझाने में बरसों बरस लग जाते थे अब यह सारे विभाग जल शक्ति मंत्रालय के तहत आ गए हैं। दूसरा काम हमने यह किया कि सरकार बनते ही जल जीवन मिशन शुरू कर दिया आने वाले 5 साल में साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए पानी के संसाधन जुटाने तथा वर्षा के जल संरक्षण और घर-घर तक जल पहुंचाने हेतु खर्च किए जाएंगे ।

    साथियों इस मिशन से न सिर्फ धान के किसानों का जीवन आसान होगा बल्कि पेयजल का संग्रह इकट्ठा करने में जो समय महिलाओं ग्रहणी का बर्बाद होता है वह भी बचने वाला है , यही नहीं सिर्फ शुद्ध जल ही मिलेगा बल्कि हमारा स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा , पर्याप्त पानी मिलने से सूखा प्रभावित क्षेत्र में उद्योगों को भी बढ़ावा मिलेगा जिससे रोजगार के नए अवसर उपलब्ध होंगे देश की ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर 25 लाख करोड़ खर्च होंगे देश के ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर अब जितना ध्यान दिया जा रहा है उतना पहले कभी नहीं दिया गया ।

    गांव की सड़कों पर पहले से तेज गति से काम चल रहा है अब आने वाले वर्षों में गांव में इन्फ्रास्ट्रक्चर को विकसित करने के लिए 25 लाख करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे , इससे गांव में खेतों के आसपास ही आधुनिक गोदाम बनेंगे जहां किसान अपनी उपज को लंबे वक्त तक स्टोर कर पाएंगे , नेशनल हाईवे के इर्द-गिर्द स्टोरेज की सुविधा विकसित की जाएगी । साथियों इसके साथ-साथ किसानों को सीधी मदद देने पर भी जोर दिया जा रहा है चाहे बैंक खाते में सीधे पैसे ट्रांसफर करना हो या फिर किसान परिवारों को पेंशन देने की योजना हो इससे उन्हें नया आत्मविश्वास नया संबल मिल रहा है । पीएम किसान सम्मान निधि के दायरे में हर किसान को लाया जाएगा प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- पीएम किसान सम्मान निधि के दायरे में हर किसान को लाया जाएगा और छोटे किसानों को पेंशन की सुविधा से जोड़ा जाएगा आज यह दोनों फायदे महाराष्ट्र के किसानों को विगत छे- सात महीनों से मिल रहे हैं , दो हजार करोड़ रुपए उनके बैंक खातों में पहुंच चुके हैं ।

    जिन परिवारों को आधार से लिंक के कारण या दूसरी तकनीकी अड़चनों के कारण सुविधा नहीं मिल पा रही है उन्हें भी जल्द ही यह मदद मिल जाएगी , सीधी मदद के साथ-साथ धान सहित तमाम फसलों के समर्थन मूल्य में ऐतिहासिक बढ़ोतरी विगत एक से डेढ़ साल में की गई है और हां किसानों से जुड़ी एक और मांग को भी भाजपा सरकार ने पूरा किया है । मोदी जी ने मराठी में पुछा-साकोलीकर तुमी भूमिधारी से भूमि स्वामी झाला का ? झाला ना ? स्वतंत्रता पासून जे काम नहीं झाले ते कोणी केले ?…. कोणी केला ? पब्लिक से आवाज…. मोदी ने ?

    तो यासाठी भाजपा सरकार आला पाहिजे ना ? पब्लिक से आवाज़ …होय? किसानों की कमाई से जुड़ा एक और लाभ महाराष्ट्र को मिलेगा और वह है पशुओं का टीकाकरण ? जो पूरे देश में अभियान के रूप में शुरू किया गया है पशुधन बचेंगे , यह अभियान किसानों को बहुत बड़ी राहत देगा इससे पशुओं के इलाज पर होने वाला खर्च बचेगा उनकी अकाल मृत्यु नहीं होगी स्वस्थ पशुधन से आर्थिक लाभ भी अधिक होगा । श्रमिकों और छोटे दुकानदारों के लिए पेंशन सुविधा शुरू की गई है हमारा संकल्प है किसानों के साथ-साथ आदिवासी समाज, श्रमिकों और छोटे दुकानदार ( कारोबारियों ) की सुविधाओं का भी ध्यान रखना इनको 60 वर्ष की आयु के बाद पेंशन की सुविधा शुरू की गई है जनधन खाता खोलने से आदिवासी अंचलों के दूरदराज के गांव का समावेश हो रहा है जो श्रमिक निर्माण के कार्यों से जुड़े हैं उनको पहले परेशानी उठानी पड़ती थी अब डाकघर ही बैंक है और डाकिया ही बैंक बाबू बन चुका है ।

    462 एकलव्य मॉडल स्कूल खुल रहे
    आदिवासी बच्चों की शिक्षा और उनके स्किल डेवलपमेंट को बढ़ावा देने के लिए एकलव्य मॉडल स्कूल तैयार किया जा रहा है हाल ही में देश भर में 462 ऐसे स्कूल बनाने का अभियान भी शुरू हो चुका है आज भारत में दुनिया भर से टूरिस्ट बड़ी संख्या में आ रहे हैं पर्यटन के क्षेत्र में इसी शक्ति का विकास करने पर हम निरंतर काम कर रहे हैं ।जहां तक आपके गोंदिया- भंडारा जिले की बात है यह पूरा क्षेत्र तो जंगल ,तालाब और झरनों से समृद्ध है , यहां पर्यटन के लिए बड़ी संभावनाएं हैं आदिवासी समाज द्वारा तैयार किए गए उत्पाद से क्षेत्र भरा पड़ा है चुलबंदनदी , नागझिरा अभ्यारण्य , नवेगांव बांध नेशनल पार्क को आधुनिक बनाना जरूरी है यहां जब नई सुविधाओं का विकास होगा तो यहां के पर्यटन को चार चांद लग जाएंगे ? इससे यहां के युवा साथियों को रोजगार और स्वयं रोजगार उपलब्ध होगा ।

    युवा साथियों से आग्रह है कि गेस्ट हाउस , होमस्टे और कैंपसाइट जैसे कारोबार से जुड़े अब तो मुद्रा योजना के तहत आसानी से ऋण भी उपलब्ध कराया जा रहा है इसका लाभ उठाएं और अपने परिवार को सशक्त बनाए । केंद्र सरकार और महाराष्ट्र की महायुति की शक्ति , देश को और विकास की ऊंचाइयों पर ले जाएगी इसमें आपका योगदान भी आवश्यक है इसलिए 21 अक्टूबर को मतदान केंद्रों पर जाकर उम्मीदवारों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में जिताएं और समर्थ तथा मजबूत सरकार बनाएं, ऐसा आव्हान प्रधानमंत्री मोदी ने चुनावी सभा में उपस्थित भारी भीड़ से किया ।

    विशेष उल्लेखनीय है कि यह सभा भंडारा जिले के साकोली विधानसभा क्षेत्र में आयोजित की गई थी इस सीट से जिले के पालक मंत्री डॉ. परिणय फुके भाजपा के कमल चुनाव चिन्ह से कांग्रेस के किसान नेता नाना पटोले को उनके घर में घुसकर चुनौती दे रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी की सभा में पालकमंत्री परिणय फुके के हस्ते तुमसर के पूर्व विधायक अनिल बावनकर ने राष्ट्रवादी को सलाम नमस्ते कर भाजपा में प्रवेश किया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से भाजपा महासचिव सरोज पांडे गोंदिया- भंडारा के सांसद सुनील मेंढे व केंद्रीय मंत्री -रामदास आठवले सहित 7 विधानसभा सीटों के पार्टी उम्मीदवार उपस्थित थे।

    रवि आर्य

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145