Published On : Sun, May 31st, 2020

गोंदिया में कोरोना का खौफ: कुल केस 67 , स्वस्थ हुए 38, एक्टिव केस 29

अब 7 से 9 दिनों के भीतर ठीक हो रहे मरीज

गोंदिया :चीन से चला कोरोना वायरस अब दुनिया में कोहराम मचा रहा है जिससे गोंदिया जिले में भी खासा खौफ व्याप्त है।

इस आक्रमणकारी वायरस से संक्रमित होने वाले मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। आज रविवार 31 मई को एक नया मामला सामने आने से आंकड़ों में इजाफा हुआ है तथा अब तक जिले में खतरनाक वायरस की चपेट में आने वालों की संख्या 67 हो चली है।

तेजी से बढ़ रहे मामलों के साथ ही अब उचित देखभाल व पौष्टिक जीवन सत्य आहार के जरिए मरीज 7 से 9 दिनों के भीतर ठीक हो रहे है।

आज 31 मई को 6 मरीज स्वस्थ्य होकर अस्पताल से डिस्चार्ज किए गए, इस तरह कुल 38 के जंग जीतकर घर लौटने के बाद एक्टिव मरीजों की संख्या 29 है।

जिले से अब तक 997 व्यक्तियों के गले के स्वैब नमूने जांच हेतु भेजे गए है इनमें 883 की रिपोर्ट निगेटिव है तथा 47 की रिपोर्ट प्राप्त होना बाकी है।

जिले में 23 इलाके कंटेन्मेंट जोन घोषित
जिन इलाकों के पॉजिटिव मरीज पाए गए है एैसे जिले की 7 तहसीलों के कुल 23 गांवों को कंटेन्मेंट जोन घोषित किया गया है। इनमें गोंदिया तहसील का नवरगांवकला,कटंगी, परसवाड़ा, चुटिया, रजेगांव, गजानन कालोनी, काटी, सालेकसा तहसील का धनसुवा, सड़क अर्जुनी का तिड़का, सालईटोला, रेंगेपार, वड़ेगांव, पांढरवानी, गोपालटोली, गोरेगांव तहसील का गणखैरा , गंगाराम चौक, आंबेतलाब, तिरोड़ा तहसील का तिरोड़ा क्षेत्र, अर्जुनी मोरगांव का करांडली, अरूणनगर, सिलेझरी, बरडटोली व अरततोंडी का समावेश है।

वर्तमान में जिले में ग्रामीण स्तर पर विभिन्न शालाओं व संस्थाओं में 3929 को अलग रखा गया है, वहीं 3284 लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है एैसी जानकारी जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. श्याम निमगडे ने दी है।

वास्तव में मरीज देवरी का नहीं, झारखंड का निवासी है?

गौरतलब है कि, जिले की देवरी तहसील को छोड़ 7 तहसीलों में कोरोना के संक्रमित मरीज पाए गए है लेकिन 29 मई को जो 4 मरीज पॉजिटिव पाए गए थे उनमें 3 गोंदिया तहसील के और एक देवरी तहसील का बताया गया था, वास्तव में वह मरीज देवरी तहसील का नहीं, झारखंड राज्य के लोहारडागा जिले का निवासी है, एैसी जानकारी देवरी तहसीलदार विजय बोरूडे द्वारा देते बताया गया कि, देवरी के मुरदोली निकट एक सड़क हादसे में शिकार होने के बाद उक्त मरीज को देवरी में भर्ती किया गया था

जिसके बाद उसे गोंदिया रेफर किया गया। गोंदिया में उसके सेंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए थे। 29 मई को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव पायी गई। देवरी तहसील में अब तक एक भी मरीज नहीं पाया गया है इसलिए नागरिकों को घबराने की आवश्यकता नहीं है, बस सोशल डिस्टेसिंग और नियमों का पालन करना आवश्यक है।

रवि आर्य