Published On : Mon, Jun 8th, 2020

गोंदिया: कोरोना टेस्टिंग लैबोरेट्री उद्घाटित, मशीन करेगी रोज 120 नमूनों का परीक्षण

Advertisement

कोरोना हारेगा-गोंदिया जीतेगा- पालक मंत्री देशमुख

गोंदिया। कोरोना वायरस महामारी की भयावह स्थिति से निपटने के लिए प्रशासनिक तौर पर हर संभव प्रयास किए जा रहे है।
जिले में संक्रमण का प्रसार रोकने अधिकाधिक संदिग्धों के गले के स्वैब नमूने लेकर अब तक नागपुर प्रयोगशाला भेजे जा रहे थे जिसकी रिपोर्ट प्राप्त होने में 3 से 5 दिन लगते थे लेकिन अब जिले में कोरोना परीक्षण प्रयोगशाला शुरू होने के बाद महज 6 घंटे में नमूना परीक्षण रिपोर्ट प्राप्त होगी और इससे कोरोना पर काबू पाने के लिए जिला प्रशासन अधिक सर्तक रहेगा।

Advertisement
Advertisement

गोंदिया जीत जाएगा और कोरोना हार जाएगा.. कुछ इस आशय के उद्गार जिले के पालकमंत्री अनिल देशमुख ने आज 8 जून को गोंदिया जिला अस्पताल में कोरोना टेस्टिंग लेबोरेटरी का ई-उद्घाटन वीडियो क्रान्फ्रेसिंग के जरिए करते हुए व्यक्त किए।

उद्घाटन पश्‍चात पालकमंत्री देशमुख ने जिले में कोरोना परिस्थिति के संदर्भ में समीक्षा की। जिले में अब मात्र 2 कोरोना संक्रमित मरीज शेष होने पर उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों व कर्मचारियों का अभिनंदन किया। साथ ही उन्होंने कोरोना टेस्टिंग लैब के कामकाज की जानकारी भी प्राप्त की।
लैब के मुख्य तज्ञ डॉ. दिलीप गेडाम ने जानकारी देते बताया कि, लैब में स्थापित की गई इस मशीन की क्षमता एक दिन में 120 नमूनों का परीक्षण करने की है। ऑटोमोटेड आरएनए मशीन शीघ्र ही आ रही है जिसके बाद नमूने परीक्षण की क्षमता दुगनी हो जाएगी।

प्रयोगशाला पर 1 करोड़ 80 लाख रुपए का खर्च

गौरतलब है कि, गोंदिया में कोरोना परीक्षण प्रयोगशाला जांच केंद्र के लिए जिला नियोजन समिति से 1 करोड़ 80 लाख रूपये की निधि मंजूर की गई, इसमें से 1 करोड़ 52 लाख रूपये लैब में विभिन्न उपकरणों पर खर्च किए गए है।

प्रयोगशाला में नमूनों की जांच के लिए एक मुख्य जांच अधिकारी, 3 सहायक जांच अधिकारी व अन्य तकननीकी अधिकारियों की नियुक्ति करते हुए उन्हें प्रशिक्षित किया गया है।

अब इस प्रयोगशाला केंद्र से कोरोना संदिग्धों के शीघ्र निदान में मदद मिलेगी और निवारक उपाय तुंरत किए जाएंगे।

इस अवसर पर जिलाधिकारी कार्यालय में विधायक विजय रहांगडाले, कलेक्टर डॉ. कांदबरी बलकवड़े, जि.प. मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. राजा दयानिधी, पुलिस अधीक्षक मंगेश शिंदे, सहायक जिलाधिकारी रोहन घुगे, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. श्याम निमगडे, डॉ. विनायक रूखमोड़े, मेडिकल अस्पताल के डॉ. दिलीप गेडाम, डॉ. प्रशांत पाटिल, डॉ. मनोज तालापल्लीवार, डॉ. संजय माहुले, डॉ. प्रशांत तुरकर आदि प्रमुखता से उपस्थित थे।

रवि आर्य

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement