Published On : Tue, Aug 24th, 2021
nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

गोंदिया: 5 लाख की सुपारी देकर रची थी हत्या की साजिश

बाजू में जिम ना खुले इसके लिए जिम मालक ने सुपारी किलर से करा दी, कारोबारी की हत्या

गोंदिया। आपसी व्यवसायिक प्रतिस्पर्धा के चलते अशोक कौशिक नामक युवक की हत्या का षड्यंत्र 3 माह पूर्व चिंटू शर्मा द्वारा रचा गया और इसके लिए चिंटू शर्मा ने अपने एफर्ट जिम में बतौर ट्रेनर काम करने वाले दीपक भूते के माध्यम से 5 लाख की सुपारी सतीश बनकर नामक हत्यारे को दी तथा काम के एवज में 2 लाख एडवांस भी दिए गए ।

जिसके बाद 21 अगस्त की सुबह सर्कस मैदान के निकट अशोक कौशिक की बहुत करीब से गोली मारकर हत्या करवा दी गईं।

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने आसपास परिसर के सीसीटीवी फुटेज खंगालने तथा पिस्टल का उपयोग करने वाले अपराधियों के रिकॉर्ड की जांच करने के बाद गोपनीय जानकारी मिलने पर आरोपी सतीश रमेश बनकर (30, चावड़ी चौक छोटा गोंदिया ) को आमगांव तहसील के ग्राम पदमपुर से हिरासत में लेकर कड़ी पूछताछ की गई जिसमें उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

आयोजित पत्र परिषद में इस बात की जानकारी जिला पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे ने देते हुए बताया- आरोपी प्रकाश उर्फ चिंटू शर्मा उनका जिम सर्कस मैदान निकट स्थापित था , मृतक अशोक कौशिक यह नया जिम बाजू में स्थापित कर रहे थे बिल्डिंग का निर्माण कार्य चल रहा है अभी जिम का सामान लाने वे कुछ ही दिनों में दिल्ली जाने वाले थे।

बाजू में जिम ना खुले इस बात को लेकर जिम मालिक चिंटू शर्मा के मन में खुन्नस थी और खटपट चल रही थी, यही गुनाह का मोटिव है।

मांगी लिफ्ट , सिर के पीछे मारी गोली

चिंटू शर्मा के जिम में ट्रेनर का काम करने वाला आरोपी दीपक भूते यह 5 दिन से जिम मैं काम पर नहीं जा रहा था तथा उसने सुपारी अपने घर के बाजू में रहने वाले आरोपी सतीश बनकर को दी थी संभवत वारदात को अंजाम देने से पहले अच्छी रैकी की गई।

21 अगस्त के सुबह 7:30 बजे आरोपी सतीश बनकर ने अपनी बाइक रास्ते के साइड में खड़ी कर दी , बाद में जिम की ओर रोजाना की तरह जा रहे अशोक कौशिक को उन्होंने हाथ दिखा कर रोका , मेरी गाड़ी में पेट्रोल खत्म हुआ है मुझे बोतल में पेट्रोल लाने जाना है यह कहते हुए आरोपी सतीश ने अशोक कौशिक से लिफ्ट मांगी और उसकी दुपहिया के पीछे बैठा और बैठते ही आरोपी ने अपने पास मौजूद पिस्टल से अशोक के सिर के पीछे फायर किया।
तथा वारदात के बाद हत्या में इस्तेमाल पिस्टल वहीं झाड़ियों में फेंक फरार हो गया।
इस बात की प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों को जानकारी देते पुलिस अधिकारियों ने कहा- पिस्टल सतीश बनकर की थी जिसे पुलिस ने घटनास्थल से बरामद किया है, हथियार उपलब्ध कहां से हुए ? इसका इन्वेस्टिगेशन चालू है।

बाहर से अवैध हथियार शहर में दाखिल हो रहे हैं , हमने अब तक गत कुछ महीनों में तीन हथियार अलग-अलग जगहों से जब्त करते मुकदमे दर्ज किए हैं इस नेक्सेस को हम जल्द ही खत्म करेंगे ।

पुलिस ने आरोपी चिंटू शर्मा को गौशाला वार्ड इलाके से गिरफ्तार किया, दीपक भूते यह आमगांव से पकड़ाया , तीनों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया जहां से उन्हें 27 अगस्त तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है।

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अलग-अलग एंगल से प्रकरण की तफ्तीश में जुटी है।

इस मर्डर केस की गुत्थी जल्द सुलझाने हेतु जिला पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे तथा अप्पर पुलिस अधीक्षक अशोक बनकर के मार्गदर्शन में शहर थाना प्रभारी महेश बनसोडे , स्थानिक अपराध शाखा दल के पुलिस निरीक्षक बबन आव्हाड़ , सापोनि सागर पाटिल , सापोनि विजय राणे , उपनि तेजेंद्र मेश्राम , पुलिस नायक सुबोध, योगेश बिसेन, अरविंद चौधरी , छगन विठृले, रहांगडाले, शेंडे , मेश्राम , पुलिस सिपाही वेदक आदि की ओर से कार्रवाई की गई।
मामले की जांच उपविभागीय पुलिस अधिकारी जगदीश पांडे कर रहे हैं।

रवि आर्य