Published On : Fri, Jun 19th, 2020

गोंदिया: चीनी सामानों की जली होली

जनता आर्थिक मोर्चे पर चीन की कमर तोड़ेगी

गोंदिया। चीन हमें बाजार के तौर पर इस्तेमाल करता है, चीन की इकोनामी भारत के पैसे से ही चलती है और वह हमारे खिलाफ ही धोखेबाजी की साजिश रचता है लेकिन अब वक्त आ गया है कि, हम चाइना को सबक सिखाएं इसी आशय के उद्गार गुरुवार 18 जून शाम को आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त करते हुए चीनी सामानों की होली जलाई गई।

इस अवसर पर उपस्थितों ने देश करे पुकार, चाइना का करो बहिष्कार और बायकॉट- बायकॉट के नारे लगाए।

जेसीआई गोंदिया रॉयल के उपाध्यक्ष तथा नगरसेवक लोकेश (कल्लू) यादव ने कहा- सेना बॉर्डर पर और जनता आर्थिक मोर्चे पर चीन की कमर तोड़ेगी, इस मोर्चे पर देश के आम नागरिक को लड़ना होगा और देश की सड़कों से लेकर गोंदिया की सड़कों तक अब ऐसी होली जलाई जा रही है।

अगर भारत के नागरिक चीनी वस्तुओं का इस्तेमाल बंद कर दें तथा चाइना प्रोडक्ट के बहिष्कार का मन बना लें तो चीन को साढ़े 5 लाख करोड़ रूपये का सालाना नुकसान होगा।

चीनी सामानों के खरीदने से यह पैसा चीन के पास जाएगा और इस पैसे से चीन की सेना मजबूत होगी और वह फिर साजिशें रचेगी इसलिए हमने स्वदेशी वस्तुओं को खरीदकर देश की सेना को मजबूत बनाना है, देश को आत्मनिर्भर बनाना है।

चाइना मेड टीवी फोड़े , मोबाइल , कंप्यूटर को फूंका

लद्दाख के गलवान घाटी में एलओसी पर जो ड्रैगन ने किया है उसके बाद चीन को करारा जवाब देने का ऐलान गोंदिया वासियों ने भी कर दिया है और इसकी शुरुआत हो चुकी है।

जेसीआई गोंदिया रॉयल द्वारा जयश्री टॉकीज काम्पलेक्स निकट स्थित आयोजित कार्यक्रम में सर्वप्रथम बॉर्डर पर शहीद हुए 20 वीर जवानों को मोमबत्तियां जलाकर व मौन धारण कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

तत्पश्चात चाइना के झंडे को सड़क पर बिछाकर चीन निर्मित टीवी फोड़े गए तथा चीनी राष्ट्रपति शी- जिनपिंग के प्रतीकात्मक पुतले के आसपास चाइना मेड टीवी , खिलौने , टॉर्च , मोबाइल गार्ड , कंप्यूटर , मोबाइल कवर इत्यादि वस्तुओं को रखकर उनकी होली जलाई गई और इस तरह चीन निर्मित वस्तुओं का बहिष्कार किया गया।

कार्यक्रम में संस्थापक अध्यक्ष जेसी- अमन कारडा, उपाध्यक्ष जेसी- लोकेश (कल्लू) यादव, परियोजना निर्देशक -विनोद हसीजा, पूर्व अध्यक्ष- हर्ष अग्रवाल, भावना अग्रवाल, अंकुश डोडानी, जेसी- दीपक हसीजा, भरत छत्तानी, अशोक चेलानी, समाजसेवी -पूजा तिवारी आदि उपस्थित थे।

रवि आर्य