Published On : Sat, Jul 3rd, 2021

गोंदिया: ब्रेस्ट कैंसर से बचाव के लिए जागरुकता जरूरी

डॉक्टर्स डे पर IMA गोंदिया द्वारा स्तन कैंसर विषय पर जन जागृति सेमिनार सफल

गोंदिया। स्तन कैंसर से बचाव के लिए अभी तक कोई वैक्सीन नहीं है सिर्फ जागरूकता ही इलाज़ है। ब्रेस्ट कैंसर के लक्षणों के बारे में जानने और उसके इलाज को लेकर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन गोंदिया द्वारा 1 जुलाई को चिकित्सक दिवस अवसर पर जनजागृति कार्यक्रम आयोजित किया गया।

ज़ूम अप्लीकेशन प्लेटफार्म के जरिए ‘ब्रेस्ट कैंसर ‘ विषय पर आधारित निशुल्क स्वास्थ्य सेमिनार में सभी विशेषज्ञ डॉक्टर्स की टीम ने महिला स्वास्थ्य पर प्रतिभागियों का मार्गदर्शन करते कहा- बदलती जीवन शैली और अनियमित दिनचर्या की वजह से महिलाओं में स्तन कैंसर का खतरा काफी बढ़ गया है , आज हर उम्र की महिला इस कैंसर से ग्रस्त है ।


गांव में अनभिज्ञता के कारण और शायद संकोच की वजह से महिलाएं अपनी तकलीफ नहीं बताती हैं जिससे बीमारी काफी आगे की स्टेज में पर पहुंच जाती है इस स्थिति में इलाज कठिन हो जाता है इसलिए सूजन या गांठ हो तो जांच करवाएं इसके अलावा भी ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण दिखें तो इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए ।

समय पर इलाज से आप इस बीमारी से बच सकती हैं। परिवार में किसी को हो तो अनुवांशिक रूप से भी स्तन कैंसर की बीमारी होने की आशंका बनी रहती है इसलिए लक्षण जैसे गांठ या दर्द होने पर डॉक्टर से सलाह लें इसके लिए शर्म और झिझक बिल्कुल भी नहीं होनी चाहिए।

IMA गोंदिया महिला विंग की अध्यक्षा डॉ. अनीता कोतवाल व सचिव डॉ. कविता भगत के आव्हान पर इस स्वास्थ्य सेमिनार का आयोजन किया गया था जिसमें 90 से अधिक महिला प्रतिभागियों ने सीधे संवाद में हिस्सा लिया।

इस दौरान नागपुर की प्रमुख डॉ. रोहिणी पाटिल , फिजियोथैरेपिस्ट देवयानी ठाकरे , सर्जन डॉ. अस्मिता धुर्वे ने जनता के सवालों के जवाब दिए।
डॉ.आभा सोनाकिया , डॉ. शिवानी गहरवार , डॉ. लता जैन, डॉ. शिल्पा मेश्राम, डॉ. श्वेता राणा ने भी मार्गदर्शन सेमिनार में हिस्सा लिया।

जनता के सवाल- डॉ.कविता भगत और डॉ. अमृता अग्रवाल ने पूछे। कैंसर पेशेंट से सीधा संपर्क और प्रेरणा श्रीमती वाल्के , और श्रीमती वंदना खुणे द्वारा दी गई।

रवि आर्य