Published On : Thu, Nov 19th, 2020

गोंदिया: तेंदुए की खाल बेचते पकड़ाए 3 शिकारी

प्रारंभिक पूछताछ में करंट लगाकर शिकार किए जाने की जानकारी

गोंदिया जिले पर निसर्ग का वरदान है यहां के घने जंगलों के बीच खुले मैं विचरण करते सहज ही वन्य प्राणीयों को देखा जा सकता है ।
कई अवसरों पर वनक्षेत्रों के भीतर विद्युत प्रवाहित तारों का जाल बिछाकर करंट लगाकर वन्य प्राणियों के शिकार की खबरें भी आती रहती है।
तेंदुए की खाल बेचने के फिराक में जुटे 3 शिकारियों को डमी ग्राहक भेज कर नवेगांवबांध पुलिस ने पकड़ने में कामयाबी हासिल की है ।
आरोपियों के पास से तेंदुए की खाल ,दांत, पंजे , नाखून, गुर्दे और शरीर के अन्य अवशेष बरामद करते हुए तीनों शिकारियों को वन विभाग के सुपुर्द किया गया है जहां उनपर वन्य जीव प्राणी संरक्षण अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Advertisement

फर्जी ग्राहक भेज पुलिस ने 5 लाख में सौदा तय किया

Advertisement

अप्पर पुलिस अधीक्षक (देवरी) अतुल कुलकर्णी इन्हें मुखबिर से इस बात के गुप्त जानकारी मिली कि जंगल में तेंदुए का शिकार करने के बाद उसकी खाल को ऊंची कीमत पर बेचने के फिराक में 3 शिकारी जुटे हैं।

सूचना की पुष्टि करने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के मार्गदर्शन में नवेगांव बांध पुलिस निरीक्षक बोरसे ने छापामार कार्रवाई हेतु टीम बनाई तथा फर्जी ग्राहक भेजकर उनसे संपर्क साधा , डमी ग्राहक ने खाल को ऊंचे दाम पर बिकवाने का भरोसा दिलाते हुए तेंदुए की खाल का 5 लाख रुपए में सौदा तय किया ।

डील पक्की हो जाने के बाद जैसे ही शिकारी पैकेट्स मैं तेंदुए की खाल, नाखून, दांत और अन्य अवशेष लेकर ग्राम भिवाखिड़की स्थित लांजेवार राइस मिल के निकट खेत परिसर में पहुंचे , पुलिस ने मुस्तैदी दिखाते हुए इन्हें पकड़ लिया।

बरामद खाल की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 20 से 30 लाख रुपए के बीच आंकी गई है। फॉरेस्ट अधिकारियों की उपस्थिति में स्पाट पंचनामा करने के बाद हिरासत में लिए गए शिकारी देवीदास दागो मरस्कोल्हे ( 52 झाड़गांव पोस्ट-सासरा त. साकोली जिला भंडारा) मंगेश केशव गधाने ( ४४, पोहरा, त. लखनी, जिला भंडारा) रजनीश पुरुषोत्तम पोगड़े ( ३२, निवासी सकोली, जिला भंडारा ) इन्हें वन विभाग के सुपुर्द कर दिया गया है जहां हवालात में इनसे पूछताछ की जा रही है शुरुआती जांच में करंट देकर तेंदुए के शिकार किए जाने का मामला सामने आ रहा है।

उक्त धरपकड़ कार्रवाई जिला पुलिस अधीक्षक गोंदिया विश्व पानसरे, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अतुल कुलकर्णी, उप-विभागीय पुलिस अधिकारी जलविंद नालकुल के मार्गदर्शन में नवेगांव बांध थाना प्रभारी बोरसे , पुलिस कर्मचारी नरेश उरकुडे, पोहवा कोड़ापे, मडावी , चांदेवार ,कोरे , देशमुख ,भोंगारे ,मस्के,डहारे,
लोडगे, शिरसागर, डोंगरवार, कोकोड़े , बर्वे , सोनवाने, वन अधिकारी अग्रिम सैनी, एन.टी चव्हाण और विशाल बोराडे द्वारा की गई।

रवि आर्य

Advertisement

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement