Published On : Sat, Aug 14th, 2021
nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

Video गोंदिया: रेलवे स्टेशन में मिले 2 लावारिस बैग , पुलिस में मची भगदड़

संदिग्ध बैग में मिला फटाखा और गांजा, पुलिस ने कहा- यह मॉक ड्रिल था

गोंदिया। शुक्रवार 13 अगस्त की शाम गोंदिया रेलवे स्टेशन पर उस वक्त हड़कंप मच गया जब मेन गेट से सटे प्लेटफार्म क्रमांक 1 के वेटिंग हॉल में संदिग्ध लावारिस बैग पड़े होने की सूचना मिली। तत्काल पुलिस कंट्रोल रूम गोंदिया और CRO नागपुर रेलवे को जानकारी दी गई। जिसके बाद तुरंत मौके पर सिटी पुलिस स्टेशन , आरपीएफ और जीआरपी के उच्च अधिकारी , डॉग स्क्वायड और बम निरोधक दस्ते के साथ मौके पर पहुंचे तथा भारी संख्या में पुलिस बल ने रेलवे स्टेशन को चारों तरफ से घेर लिया। यह नजारा देख वेटिंग हॉल और रेलवे स्टेशन पर मौजूद लोग काफी सहमे हुए थे।

इस दौरान सुरक्षा उपकरणों की मदद से संदिग्ध काले रंग के बैग को सुरक्षित स्थान पर ले जाकर उसकी जांच पड़ताल की गई तो उसके भीतर विस्फोटक की जगह पटाखे मिले। उसी प्रकार प्लेटफार्म पर पड़े दूसरे संदिग्ध लावारिस बैग की जांच करने पर उसमें 15 ग्राम गांजा पाया गया , इस मादक पदार्थ को भी नष्ट किया गया। पुलिस ने कहा- यह एक मॉक ड्रिल थी जो लोगों को जागरूक करने के लिए थी , पुलिस प्रशासन हर संभव कानून व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने का प्रयास कर रहा है।

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए गोंदिया रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए है , इसी के तहत सुरक्षा व्यवस्था को परखने हेतु 13 अगस्त शुक्रवार को शाम 4:10 से 5:30 तक रेलवे स्टेशन पर मॉक ड्रिल के तहत अभ्यास किया गया।

गौरतलब है कि, गोंदिया जिला अतिसंवेदनशील नक्सलग्रस्त क्षेत्र में आता है, रेलवे स्टेशन परिसर में कोई अप्रिय घटना ना हो इस पर कड़ी नजर रखी जा रही है। परिस्थितियों से निपटने के लिए रेलवे सुरक्षा बल गोंदिया, शाखा रेलवे पुलिस गोंदिया, अपराध गुप्तचर शाखा गोंदिया, स्थानीय पुलिस गोंदिया के अधिकारी व कर्मचारी तथा बीडीडीएस और डॉग स्कॉड आदि की संयुक्त टीम ने मॉक ड्रिल में हिस्सा लेते हुए इस अभियान के तहत यात्रियों को रेलवे स्टेशन में लावारिस बैग व अन्य किसी प्रकार की संदिग्ध वस्तु पाये जाने पर तत्काल आरपीएफ , जीआरपी , स्टेशन मास्टर एवं रेल प्रशासन आदि को सूचित करने हेतु जागरुक किया गया तथा यात्रा के दौरान चलती ट्रेनों में भी सावधानी बरतने हेतु उद्घोषणा कर जागरुक किया गया।

रवि आर्य