Published On : Wed, Jun 16th, 2021

गोंदिया:सड़क अर्जुनी में 100 बिस्तरों का सर्व सुविधा युक्त अस्पताल बनेगा

संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर जिलाधीश ने ली समीक्षा बैठक

गोंदिया: कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के साथ ही संभावित तीसरी लहर के लिए गोंदिया जिला प्रशासन तैयार है, इसके लिए स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को भी अधिक बेहतर बनाने के लिए काम किया जा रहा है, उक्त आश्य का प्रतिपादन जिलाधिकारी राजेश खवले ने व्यक्त किया ।

आज 16 जून बुधवार को जिलाधिकारी कार्यालय के सभागृह में कोविड-19 रोग प्रतिबंधात्मक उपाय योजना के तहत आयोजित समीक्षा बैठक में बोलते हुए श्री खवले ने आगे कहा- कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मुद्देनजर चिकित्सा व्यवस्था को बेहतर बनाया जा रहा है, इसके लिए प्रत्येक तहसील स्थल पर ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जाएंगे। साथ ही तहसील के स्वास्थ्य केंद्रों में उपलब्ध बिस्तरों को ऑक्सीजन से जोड़ने का कार्य भी किया जा रहा है।
सड़क अर्जुनी में 100 बिस्तरों का सर्वसुविधा युक्त अस्पताल बनाया जाएगा।

कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों के संक्रमित होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता इसलिए संभावित खतरे को देखते हुए जिला केटीएस अस्पताल में 65 और बाई गंगाबाई महिला अस्पताल में 35 इस तरह कुल 100 बिस्तरों का बाल रोग वार्ड स्थापित किया जा रहा है।

श्री खवले ने कहा- दवाईयों की उपलब्धता, ऑक्सीजन आपूर्ति, टेस्टिंग बढ़ाना, टीकाकरण में वृद्धि और मृत्युदर को कम करना ही पहली प्राथमिकता है।
कोरोना का संकट अभी टला नहीं है, इसलिए मास्क का नियमित उपयोग , सोशल डिस्टेसिंग और बार-बार हाथ धोने से ही कोरोना पर नियंत्रण किया जा सकता है।

संभावित तीसरी लहर के लिए जिला प्रशासन द्वारा विविध उपाय किए जा रहे है इसके लिए नागरिकों का सहयोग भी जरूरी है, तभी कोरोना को मात दी जा सकती है।

आयोजित बैठक में निवासी उपजिलाधिकारी जयराम देशपांडे, उपजिलाधिकारी सुभाष चौधरी, मेडीकल डीन डॉ. नरेश तिरपुड़े, जिला शल्य चिकित्सक डॉ. अमरीश मोहबे, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. नितिन कापसे, डॉ. दिलीप गेडाम सहित सभी उपविभागीय अधिकारी, तहसीलदार, तहसील स्वास्थ्य अधिकारी तथा आपदा व्यवस्थापन अधिकारी राजन चौबे एंव अन्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

रवि आर्य