Published On : Fri, May 17th, 2019

गोंदियाः घूसखोर 2 अभियंता गिरफ्तार

जि.प. लघु पाटबंधारे उपविभाग दफ्तर पर एसीबी ने की कार्रवाई

गोंदिया: भ्रष्टाचारियों के लिए कर्दन काल बन चुके एन्टी करप्शन विभाग अधिकारियों ने जि.प. लघु पाटबंधारे के उपविभाग अर्जुनी मोरगांव दफ्तर पर 16 मई को कार्रवाई करते हुए कनिष्ठ अभियंता तथा कनिष्ठ सहायक को एक किसान से 2 हजार रूपये की रिश्‍वत स्वीकारते रंगेहाथों धरदबोचा।
उक्त दोनों आरोपी अपने लोकसेवक पद का दुरूपयोग कर भ्रष्ट मार्ग अपनाते हुए खुद की जेब गर्म कर रहे थे।
एसीबी सूत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार, शिकायतकर्ता मुरारी यह एक किसान है तथा उसने सिंचन विहिर योजना अंतर्गत वर्ष 2016-17 में पंचायत समिति अर्जुनी मोरगांव यहां कुएं के लिए आवेदन सादर किया था जिसकी उसे मंजूरी मिली। योजना के तहत कुएं की खुदाई का कार्य और बोरवेल का काम होने पर संपूर्ण कार्य के बिल रकम के संदर्भ में प्रस्ताव तैयार कर मंजूरी के लिए शिकायतकर्ता ने लघु सिंचाई उपविभाग के कनिष्ठ अभियंता शशिकांत काले से संपर्क साधा जिसपर उसने मंजूरी हेतु प्रस्ताव पंचायत समिति अर्जुनी मोरगांव में भेजने के नाम पर 2 हजार रू. रिश्‍वत की डिमांड कर दी। शिकायतकर्ता घूस की रक्कम देने का इच्छुक नहीं था जिसपर उसने भ्रष्टाचार प्रतिबंधक विभाग गोंदिया दफ्तर पहुंच 13 मई को शिकायत दर्ज करायी।

एसीबी अधिकारियों ने जांच पश्‍चात 16 मई को जाल बिछाया इस दौरान कनिष्ठ अभियंता शशिकांत काले इसे कनिष्ठ सहायक वसंत भोंडे के माध्यम से शिकायतकतार्र् से 2 हजार रूपये की रिश्‍वत स्वीकार करते हुए पंच गवाहों के समक्ष गिरफ्तार किया।
अब इस संदर्भ में एसीबी टीम ने दोनों आरोपी कनिष्ठ अभियंता शशिकांत काले(49 रा. सौंदड़) इसे कनिष्ठ सहायक वसंत भोंडे (56 रा. अर्जुनी मोरगांव) के खिलाफ भ्रष्टाचार प्रतिबंधक अधिनियम की धारा 7, 12 सुधारित अधिनियम 2018 के तहत मामला पंजीबद्ध कराया है। प्रकरण की जांच एसीबी पुलिस उपअधीक्षक रमाकांत कोकाटे कर रहे है। उक्त कार्रवाई एसीबी पुलिस अधीक्षक (नागपुर) श्रीकांत धिवरे के मार्गदर्शन में पुलिस उपअधीक्षक रमाकांत कोकाटे, पो.ह. प्रदीप तुलसकर, राजेंद्र शेंद्रे, ना.पो. दिगंबर जाधव, रंजित बिसेन, नितिन रहांगडाले, मपोसि गीता खोब्रागड़े ,चालक देवानंद मारबते ने की।

– रवि आर्य