Published On : Fri, May 17th, 2019

फिर..3 युवतियां गायब

missing

Representational Pic

गोंदिया: मीडिल क्लॉस फेमिली से जुड़े 3 परिवारों की बेटियां 2 दिनों के भीतर फिर गायब हो चुकी है। सनद रहें गत सप्ताह जिले के अलग-अलग थानों में 4 युवतियों व 2 महिलाओं के अचानक लापता हो जाने की शिकायतें दर्ज हो चुकी है। अब आंकड़ा बढ़कर 9 पर जा पहुंचा है।
एैसे में सवाल यह उठता है क्या यह लड़कियां किसी के प्रेमजाल में फंसकर अथवा आशिकी में अंधी होकर घर से भाग रही है या फिर यह लवेरिया का चक्कर न होकर यह मानव तस्करी से जुड़े किसी संगठित गिरोह की करतूत है?

प्रतिदिन जवान लड़कियों के गायब होने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। अब इसे लेकर जहां अभिभावक चिंतित है, वहीं जिला पुलिस प्रशासन भी मामले की तह तक जाकर इस गुत्थी को सुलझाने में जुट गया है।

पहली घटना डुग्गीपार थाना अंतर्गत आने वाले सड़क अर्जुनी में घटित हुई है। 21 वर्षीय युवती घर से 15 मई को आधार कार्ड और शालेय प्रमाण पत्र (टीसी) लेकर एडमिशन के लिए जा रही हूँ, यह कहकर निकली किन्तु वापस नहीं लौटी। चिंतित परिजनों ने बेटी के सहेली और रिश्तेदारों के यहां खोज खबर की। जब सफलता हाथ नहीं लगी तो पीड़ित पिता ने 16 मई को डुग्गीपार थाना कोतवाली पहुंच बेटी के अपहरण का मामला अज्ञातों के खिलाफ दर्ज कराया है।

दुसरी घटना, तिरोड़ा थाना अंतर्गत आनेवाले ग्राम कोयलारी में 14 मई को घटित हुई है। घर से 600 रूपये और थैला लेकर बाजार सेें आर्टिफिशिल झूमके, चप्पल, बैग खरीदने हेतु घर से निकली युवती वापस घर नहीं पहुंची। किन्ही अज्ञातों ने 19 वर्षीय युवती की नासमझी का फायदा उठाकर उसे अगवा कर लिया। पीड़ित पिता की शिकायत पर पुलिस ने 16 मई को अज्ञातों के विरुद्ध जुर्म दर्ज किया है।

तीसरी घटना, सालेकसा थाना अंतर्गत आनेवाले निमटोला (पिपरीया) में 15 मई की रात घटित हुई है। 5 फिट ऊंची गोरे नयन नक्श की हिंदी भाषी लड़की रात 11 बजे अचानक बिना किसी से कुछ कहे लापता हो गई। परिजनों ने इधर-उधर बहुत खोज खबर की, गांव, रिश्तेदार सगे संबंधियों के यहां ढूंढा। जब सफलता हाथ नहीं लगी तो पीड़ित परिजनों ने 16 मई को सालेकसा थाने की शरण ली है। पुलिस मामले की तहकीकात में जुटी है।

फरवरी-मार्च में भागी 3 युवतियों को पुलिस ने खोज निकाला
एैसा कतई नहीं है कि, पुलिस अपने कर्तव्य में कोताही बरत रही है। गुमशुदगी और अपहरण की शिकायतें थाना रजिस्टर में दर्ज होने के बाद जिला पुलिस अधीक्षक विनीता साहू अब खुद एैसे मामलों पर पैनी ऩजर बनाए हुए है तथा संबधित इलाकों के उपविभागीय पुलिस अधिकारियों को गायब लड़कियों को ढूंढने के खास निर्देश भी दिए गए है। पुलिस ने फरवरी- मार्च 2019 में भागी 3 युवतियों को खोज निकाला है और यह तीनों लड़कियां स्वंय मर्जी से घर से चली गई थी और इन तीनों ने अपने प्रेमियों के साथ विवाह रचा लिया है।

सूत्रों ने जानकारी देते बताया, 26 जनवरी 2019 को आमगांव तहसील के ग्राम पिपरटोला से गायब हुई 26 वर्षीय युवती को पुलिस ने 13 मई को खैरलांजी से खोज निकाला। यह युवती स्वंय मर्जी से घर से चली गई थी तथा उसने खैरलांजी निवासी युवक के साथ मंदिर में विवाह रचा लिया। दोनों बालिग होने से पुलिस सिर्फ कानूनी कागजी कार्रवाई की खानापूर्ति ही कर सकी।

डुग्गीपार थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम वड़ेगांव निवासी 20 वर्षीय युवती यह फारेस्ट विभाग की नौकरी हेतु आनलाईन फार्म भरने के लिए गई थी जिसके बाद वह घर नहीं लौटी। बेटी के गायब होने पर परिजनों ने 27 मार्च को बेटी के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी। पुलिस ने इस लड़की को 14 मई को ग्राम मौदा से खोज निकाला। पुलिस की माने तो लड़की ने स्वंय मर्जी से 22 वर्षीय युवक के साथ विवाह रचा लिया है। शादी का प्रमाणपत्र दिखाने और परिजनों के बयान दर्ज करने के बाद पुलिस ने कागजी खानापूर्ति की है।

गायब लड़की को खोज निकालने की तीसरी सफलता पुलिस को 14 मई को प्राप्त हुई है। सूत्रों से प्राप्त जानकारीनुसार सालेकसा तहसील के गोवारीटोला निवासी 24 वर्षीय युवती यह वेलेन्टाइन के दिन 14 फरवरी 19 को अचानक लापता हो गई थी। परिजनों ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी। अब पुलिस ने इस लड़की को बालाघाट जिले के लांजी तहसील के ग्राम किरनापुर से ढूंढ निकाला है। उसने एक 25 वर्षीय युवक के साथ मंदिर में विवाह रचाया है। शादी का सत्यापन पत्र प्रस्तुत करने और परिजनों के बयान के बाद पुलिस ने कागजी कार्रवाई पूर्ण की। यह लड़की पति के साथ वैवाहिक जीवन जी रही है।

– रवि आर्य