Published On : Tue, May 18th, 2021

गोंदिया: रेलवे ई-टिकट का अवैध कारोबार , दलाल पकड़ाया

छापे में रेसुब ने 24 नग ई-टिकट, कंप्यूटर प्रिंटर बरामद किए

गोंदिया। रेलवे की आईआरसीटीसी बेवसाइट पर ई-टिकट की कालाबाजारी का कारोबार जिले में थमने का नाम नहीं ले रहा।अपराध गुप्तचर शाखा रेसुब/गोंदिया ने गोपनीय पुख्ता सूचना मिलने पर एक 30 वर्षीय परप्रांतिय युवक को रेलवे ई-टिकिट के अवैध कारोबार के जुर्म में रंगेहाथों गिरफ्तार किया है।

Advertisement

गौरतलब है कि, मौजूदा समय में कोरोना काल के दौरान रेलवे द्वारा सीमित ट्रेनें चलायी जा रही है जिससे यात्रियों को कन्फर्म टिकिट पाने के लिए काफी असुविधाओं का भी सामना करना पड़ रहा है, एैसे में कई दलाल मोटा मुनाफा कमाने की लालच में ई-टिकट के अवैध कारोबार में जुट हुए है।

Advertisement

एैसे ही एक मामले में 17 मई सोमवार को अपराध गुप्तचर शाखा के निरीक्षक अनिल पाटिल, सहायक उपनिरीक्षक एसएस ढोके, प्रधान आरक्षक आर.सी. कटरे एंव आरक्षक एस.बी. मेश्राम ने उच्च अधिकारियों के मार्गदर्शन में कार्रवाई करते हुए देवेंद्र रामनाथ पंचवारे (30 रा. हिर्री पो. किरनापुर जि. बालाघाट म.प्र) को गिरफ्तार किया।

उक्त आरोपी आईआरसीटीसी का अधिकृत एजेंट नहीं है तथा वह लाभ कमाने के लिए अलग-अलग 4 पर्सनल आईडी से रेलवे आरक्षित ई-टिकट बनाकर उसका अवैध व्यवसाय कर रहा था तथा इसके ऐवज में वह यात्रा की दूरी के हिसाब से किराया राशि के अतिरिक्त 50 से 100 रूपये प्रति टिकट वसूलता था। जांच के दौरान उसके द्वारा बनाई गई 24 नग ई-टिकट (कीमत 26,336 रूपये) बरामद की गई।

मामला रेलवे टिकट के अवैध कारोबार का होने पर आरोपी को धारा 143 के तहत गिरफ्तार करते हुए उसे आगे की कार्रवाई हेतु रेसुब बाहरी चौकी बालाघाट के सुपुर्द किया गया जहां से उसे 18 मई को रेलवे न्यायालय जबलपुर में पेश किया गया। बहरहाल आगे की जांच जारी है।

रवि आर्य

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement