Published On : Sun, Feb 7th, 2021

नागपुर शहर के गणेशपेठ पुलिस स्टेशन को जानिये ..

भाग- 1 नागपुर टुडे : नागरिकों को अपने क्षेत्रीय पुलिस स्टेशन के बारे में जानकारी हो और वे पुलिस स्टेशन के बारे में जाने, इस उद्देश्य को ध्यान में रखकर ” नागपुर टुडे न्यूज” एक विशेष न्यूज़ सीरीज लेकर आया है ‘ अपने पुलिस स्टेशन को जानिये ‘. पुलिस स्टेशन के बारे में सभी आवश्यक जानकारी आम नागरिकों तक पहुँचाने के लिए इस न्यूज़ सीरीज की हर एक न्यूज़ में आप संबंधित पुलिस स्टेशनों के पुलिस इंस्पेक्टर, किसी भी आपात स्थिति में उनसे कैसे संपर्क करें, आपके परिसर से सम्बंधित पुलिस स्टेशन के क्षेत्र में आगामी योजनाओ के बारे में जानकारी शामिल रहेगी.

गणेशपेठ पुलिस स्टेशन की स्थापना और अधिकारी, कर्मचारियों की संख्या

1 जुलाई, 1965 को गणेशपेठ पुलिस स्टेशन की स्थापना हुई थी. अभी वर्तमान में यहां के पुलिस निरीक्षक (पीआई) भारत तुकारामजी क्षीरसागर (1996 बैच के पीएसआई) है. गणेशपेठ पुलिस स्टेशन में 109 कर्मचारियों का स्टाफ काम करता है. जिसमें 13 अधिकारी और 2 पीआई शामिल हैं. गणेशपेठ पुलिस स्टेशन के अंतर्गत अग्रसेन चौक से रामझूला – रेलवे अंडर-ब्रिज – अशोक चौक क्षेत्र शामिल हैं. इन क्षेत्रों में बजरिया भालदारपुरा, गुजरवाड़ी, गणेशपेठ बस-स्टॉप परिसर संवेदनशील माने जाते है.


स्थानीय लोगों से पुलिस का समन्यवय

‘ नागपुर टुडे ‘ से बातचीत करते हुए, पुलिस निरीक्षक भारत क्षीरसागर ने बताया की नागरिकों की समस्याओं को सुलझाने का प्रयास किया जाता है. मोहल्ला कमेटी के माध्यम से भी नागरिकों के साथ संपर्क किया जाता है. उन्होंने बताया की नागरिकों को किसी भी तरह की समस्या होने पर वे किसी भी समय बिना झिझक सीधे उनसे इस नंबर पर 9822841188 पर संपर्क कर सकते है. नागरिक किसी भी तरह से अगर कोई गोपनीय जानकारी देता है, तो उस नागरिक का नाम भी गुप्त रखा जाता है.

PI Bharat Kshirsagar

आत्महत्या रोकने गांधीसागर तालाब पर रखते है ख़ास नजर

पुलिस निरीक्षक ने बताया कि पिछले साल, गांधीसागर तालाब में कुल 42 लोगों ने आत्महत्या की थी. जनवरी और जून में छह आत्महत्याएं दर्ज की गईं, जबकि जुलाई और दिसंबर 2020 के दौरान कुल 36 व्यक्तियो ने आत्महत्याएं की थी. लॉकडाउन के दौरान इसमें थोड़ी कमी आयी. गांधीसागर तालाब में आत्महत्या की संख्या बढ़ने के कारण, हमने चारों ओर अपनी निगरानी बढ़ा दी है . पुलिस कर्मचारी सरकार द्वारा दिए गए ‘ बैलेंस्ड वाहनों ‘ से शाम 5 से 8 बजे के बीच तालाब परिसर में गश्त भी करते है. रात में बीट मार्शल और अन्य अधिकारी पेट्रोलिंग वैन से भी निगरानी की जाती है.

PI Bharat Kshirsagar

उन्होंने बताया कि स्थानीय दुकानदारों और विक्रेताओं के साथ हमनें संपर्क बनाया रखा है और उन्हें बताया गया है कि अगर कोई भी संदिग्ध व्यक्ति तालाब परिसर के पास अकेले काफी देर तक दिखाई देता है तो आप हमें सूचित करे. ऐसा व्यक्ति मिलने पर गणेशपेठ के अधिकारी मौके पर पहुंचते हैं और आत्महत्या करनेवाले व्यक्ति को मार्गदर्शन करते हैं. हमने नागपुर महानगर पालिका को आवश्यक तालाब की दीवार और ग्रिल की मरम्मत करने के लिए भी पत्र लिखा है.

ट्रैफिक समस्या और महिला सुरक्षा प्राथमिकता

उन्होंने बताया की गणेशपेठ बस स्टैंड परिसर में क्षेत्र में ट्रैफिक की समस्या के बारे में उन्हें जानकारी भी है और कई शिकायतें भी नागरिकों की ओर से उन्हें मिली है. उन्होंने कहा कि परिसर में ट्रैफिक को बेहतर बनाने के लिए एक फुलप्रूफ प्लान तैयार किया जाएगा. इसके अलावा छेड़छाड़ , सार्वजानिक जगहों पर शराब पीना जैसे घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. स्कूल की लड़कियों और महिलाओं की सुरक्षा सर्वोपरि है. क्षेत्र में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएँ हैं.

उन्होंने कहा कि हम जल्द ही असामाजिक तत्वों के द्वारा उत्पन्न की गई समस्याओ से नागरिकों को निजात दिलाने के प्रयास गणेशपेठ पुलिस स्टेशन की ओर से जारी रहेंगे।

– रविकांत कांबळे ,शमानंद तायड़े