Published On : Tue, Nov 26th, 2019

पर्यावरण संवर्धन और कचरा व्यवस्थापन पर ध्यान दे मनपा

नागपुर: मनपा की ओर से शहर विकास को लेकर भले ही कई योजनाएं चलाए जाने का दावा किया जा रहा हो, किंतु सर्वप्रथम पर्यावरण संवर्धन और कचरा व्यवस्थापन पर ध्यान देने का सुझाव ‘वॉक एंड टॉक विद मेयर’ अभियान के दौरान जापानी गार्डन में हुए संवाद के समय जनता ने महापौर संदीप जोशी को सुझाव दिए.

उपस्थित लोगों का मानना था कि वृक्षारोपण करने के बाद प्रत्येक व्यक्ति ने लगाए गए पेड़ पर फलक लगाकर नाम देना चाहिए. कई बार होर्डिंग्स के लिए एजेन्सी द्वारा पेड़ों की छटाई के नाम पर पेड़ काटने की घटनाएं होती हैं, जिस पर अंकुश लगाया जाना चाहिए. साथ ही कचरे का उचित व्यवस्थापन करने के लिए लोगों पर ई-चालान शुरू करने की सुझाव भी दिया गया. पार्षद प्रगति पाटिल, शिल्पा धोटे, जयप्रकाश गुप्ता, किशोर ठुठेजा, पवनकुमार दालमिया, मितेष रांभिया आदि उपस्थित थे.

कचरे पर जनजागृति जरूरी
स्थानीय निवासी अधि. ललित मजेठिया ने सड़कों के किनारे पड़े रहनेवाले कचरे की समस्या पर ध्यानाकर्षित करते हुए कहा कि कचरे के संदर्भ में जनजागृति आवश्यक है. प्रत्येक क्षेत्र पर नजर रखकर मनपा ने कार्रवाई करनी चाहिए. देवेन्द्र माने ने कहा कि सर्विस लाइन और ड्रेनेज लाइन एक साथ जोड़ने के कारण बारिश के दौरान स्ट्राम वाटर ड्रेनेज पूरी तरह अवरुद्ध होते हैं. इसके लिए अधिकारियों पर कार्रवाई होनी चाहिए.

चर्चा के दौरान महापौर संदीप जोशी ने कहा कि मनपा की ओर से कचरे की समस्या के लिए टोल फ्री नंबर की सुविधा शुरू की गई है. कुछ लोगों का मानना था कि मनपा की ओर से वृक्षारोपण तो किया जाता है. किंतु इनका संवर्धन करने के लिए कोई प्रयास नहीं होते हैं. कई इलाकों में आवारा श्वानों की बढ़ती समस्या पर भी महापौर का ध्यानाकर्षित किया गया.

तो महापौर भी देंगे धरना
संवाद के दौरान कल्पना कुडलिंगवार ने कहा कि जापानी गार्डन में घूमने आनेवालों से वन विभाग द्वारा शुल्क लिया जाता है, जिसे रद्द किया जाना चाहिए. इस मांग का सभी उपस्थितों द्वारा समर्थन किया गया. जिस पर शहर का महापौर होने के नाते वन विभाग के अधिकारियों से मिलकर शुल्क नहीं लेने की मांग करने का आश्वासन जोशी ने दिया. साथ ही 10 दिनों के भीतर शुल्क रद्द नहीं होने पर जनता के साथ धरना आंदोलन में शामिल होने का गवाही भी दी. उन्होंने कहा कि अतिक्रमण की समस्या को लेकर मनपा द्वारा कड़े कदम उठाए जा रहे हैं. स्वच्छता के संदर्भ में भी शीघ्र ही अच्छे परिणाम दिखाई देंगे. मनपा को सहयोग के लिए गीला और सूखा कचरा अलग-अलग देने की अपील भी उन्होंने लोगों से की.