Published On : Sun, Jun 10th, 2018

गडकरी ने दी कानूनी कार्रवाई की चेतावनी

नई दिल्ली : जेएनयू छात्र संघ की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और आरएसएस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रचने में शामिल होने का सनसनीखेज आरोप लगाया है. इससे नाराज केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है. आरोपों को लेकर शेहला और नितिन गडकरी के बीच ट्विटर पर जंग हो गई.

वामपंथी नेता शेहला रशीद ने ट्वीट किया, ”आरएसएस और नितिन गडकरी पीएम नरेंद्र मोदी के हत्या की साजिश रच रहे हैं. इनको देखो, फिर मुसलमानों और कम्युनिस्टों पर आरोप लगाओ और फिर मुस्लिमों की लिंचिंग करो.” शेहला ने अपने ट्वीट के साथ #RajivGandhiStyle का प्रयोग किया.

शेहला के ट्वीट के जवाब में बिना नाम लिए नितिन गडकरी ने लिखा, ”मैं उन असामाजिक तत्वों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने जा रहा हूं जिन्होंने मुझपर पीएम मोदी को डराने के लिए हो रही हत्या की साजिश के मामले को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की है.”

नितिन गडकरी की चेतावनी के बाद शेहला रशीद ने जेएनयू के छात्र उमर खालिद का मुद्दा उठा दिया. शेहला ने एक दूसरे ट्वीट में लिखा, ” दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के नेता एक व्यंगात्मक ट्वीट से उत्तेजित हो गए. जरा सोचिए एक बेकसूर छात्र उमर खालिद और उनके पिता को कैसा लगा होगा जब टाइम्स नाउ की तरफ से झूठे आरोप पर उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा था. गडकरी राहुल शिवशंकर पर कार्रवाई करेंगे क्या?”

शेहला 2016 में तब चर्चा में आई थीं जब जेएऩयू छात्रसंघ कन्हैया कुमार पर देशद्रोह का आरोप लगा था. उस वक्त शेहला रशीद कन्हैया के समर्थन में हो रहे विरोध प्रदर्शनों का चेहरा बनी थीं. शेहला श्रीनगर की रहने वाली हैं, इस समय शेहला पीएचडी कर रही हैं. साल 2019 के लोकसभा चुनाव में उतरने का संकेत दे चुकी हैं.

इस संदर्भ मी उल्लेखनीय है कि पुणे के भीमा-कोरेगांव हिंसा मामले में गिरफ्तार नक्सली नेताओं से ईमेल और हार्ड डिस्क से मिले रोड शो के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश का खुलासा हुआ था. पुलिस के खुलासे के बाद महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस सामने आए. और बयान दिया कि नक्सलियों ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तरह ही पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या की बड़ी साजिश रची थी.

नक्सली के पास से मिली चिट्ठी
पुलिस को नक्सली के पास मिली चिट्ठी में लिखा है, ”प्रिय कॉमरेड प्रकाश लाल सलाम, मोदी के नेतृत्व में हिंदू फासिस्ट का फैलाव काफी तेजी से हो रहा है और इसको दबाने के लिए मोदी को रोकना जरूरी है. बिहार, पश्चिम बंगाल जैसे बड़े राज्यों में हार के बावजूद मोदी 15 राज्यों में बीजेपी को स्थापित करने में सफल हुए हैं. यदि ऐसा ही रहा तो सभी मोर्चों पर पार्टी के लिए दिक्कत खड़ी हो जाएंगी. कॉमरेड किसन और कुछ अन्य सीनियर कैडर ने मोदी राज को खत्म करने के लिए कुछ मजबूत कदम सुझाए हैं. हम सभी राजीव गांधी जैसे हत्याकांड पर विचार कर रहे हैं. यह आत्मघाती जैसा मालूम होता है. और इसकी भी अधिक संभावनाएं हैं कि हम असफल हो जाएं, लेकिन हमें लगता है कि पार्टी हमारे प्रस्ताव पर विचार करे. उन्हें रोड शो में टारगेट करना एक असरदार रणनीति हो सकती है. हमें लगता है कि पार्टी का अस्तित्व किसी भी त्याग से ऊपर है. बाकी अगले पत्र में.”