Published On : Thu, May 21st, 2015

गड़चिरोली : नक्सलियों ने की अपहृत युवक की निर्मम हत्या


चार दिन पहले किया था अपहरण 

पुलिस की मदद करने का था संदेह
पुलिस पाटिल का था बेटा

Murder by Naxlite
गड़चिरोली।
चार दिन पूर्व अपहरण हुए पुलिस पाटिल के बेटे की नक्सलियों ने गोलियां दागकर निर्मम हत्या कर दी. यह घटना 21 मई के प्रातः अहेरी तालुका के कमलापुर परिसर में हुई. रवीन्द्र शंकर सुनकरी (25) मृतक है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार रविन्द्र कोलसेलगुडम के पुलिस पाटिल शंकर सुनकरी का बेटा था. रवींद्र एसपीओ में विशेष पुलिस अधिकारी के तौर पर कार्यरत था. जिससे नक्सलियों की जानकारी पुलिस को देना और मदद करना ऐसा नक्सलियों को संदेह था. नक्सलियों ने 16 मई की मध्यरात्री कोलसेलगुडम गांव जाकर रवीन्द्र और शंकर पिता पुत्र को नीद से जगाया तथा अपने साथ गांव के बाहर ले जाकर शंकर सुनकरी को बिच में छोड़ दिया और रवीन्द्र को साथ में ले गए.

नक्सलियों ने रवीन्द्र को चार दिन तक अपने कब्जे में रखा. जहां गुरुवार की प्रातः नक्सलियों ने रवीन्द्र पर गोलियां दागकर निर्मम हत्या कर दी और उसका शव कमलापुर- छल्लेवाङा मार्ग पर फेंक दिया. सुबह स्थानिय ग्रामस्थों को खून से लथपथ रवीन्द्र का शव दिखाई दिया. रवीन्द्र के परिवार ने शव को अपने कब्जे में ले लिया. शव के पास पामपलेट मिले जिसमें लिखा था कि, रवींद्र एसपीओ में विशेष पुलिस अधिकारी के तौर पर कार्यरत था और नक्सलियों की जानकारी पुलिस को देता था. इसलिए उसकी हत्या की गई. पुलिस खबरी, एसपीओ, पुलिस पाटिल तुरंत अपना काम बंद करे, अन्यथा ऐसे ही सजा बाकियों को भी मिलेगी. ऐसा इशारा नक्सलियों ने किया. जिससे जिले में हड़कम्प मचा है.