Published On : Wed, Sep 16th, 2020

सभी हॉस्पिटल में कोविड़ का मुफ्त इलाज हो: अरविंद रतूड़ी

संघटन द्वारा राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, समेत कईयो को भेजा निवेदन

नागपुर– पूरे देश की तरह हमारे गृह राज्य नागपुर में भी कोविड 19 का तांडव लगातार चालू है. हर दसवां व्यक्ति इसकी चपेट में आ रहा है. मरीजों और मृतकों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है, कई मरीज इलाज के अभाव में रास्तों पर, घरों में दम तोड़ रहें हैं क्योंकि जब परिजन मरीज को इलाज के लिए दवाखाने लेकर जाते हैं, तो बड़ी मुश्किल हालतों में एम्बुलेंस मिलती है और फिर जब मरीज को लेकर परिजन सरकारी दवाखानो में लेकर जाते हैं तो उन्हें भर्ती करने इलाज करने से ये कहकर मना किया जाता है कि हमारे पास जगह नहीं है, स्टाफ की कमी है

जीवन आवश्यक स्वास्थ्य उपकरणों की कमी है, आप कही और लेकर जाओ, जब परिजन मरीज को लेकर निजी दवाखानों और उन अस्पतालों जिनको शासन प्रशासन ने कोविड 19 इलाज के लिए नियुक्त किया है, वहां लेकर जाते है, मगर वो भी साफ साफ कहते हैं कि आप मरीज को वापस लेकर जाओ हमारे पास जगह नहीं है और अगर कोई मरीज बहुत रसूखदार और दौलतमंद है, तो उनसे लाखो रूपये अग्रिम में लेकर भर्ती किया जाता है. कुछ सामान्य मरीजों के परिजन भी पैसों का इंतजाम और जुगाड़ तंत्र करके मरीज को बड़ी मुश्किल हालतों में भर्ती करवा भी देते है, तो फिर होता है , लूट-घसोट का संवैधानिक गौरखधंधा,

अस्पतालों में हजारों रूपये के इंजैक्शन, दवाइयां,पीपीई किट और लगभग एक सप्ताह के आसपास का बिल लाखों में कई बार लाखों रूपये चुकाने के बाद भी परिजनों को मरीज का शव ही दिया जा रहा है

और नौबत यहाँ तक आ रही है कि शवो से दुर्गन्ध तक आने लग गयी है. इस दुर्व्यवस्था और मानसिक,शाररिक आर्थिक लूट रोकने लोगों की जान बचाने के लिए अरविंद रतूड़ी के संगठन किंग कोबरा आर्गेनाइजेशन यूथ फ़ोर्स एवं राष्ट्र निर्माण की ओर दो कदम नागपुर महाराष्ट्र की तरफ़ से NMC कमिश्नर,महापौर संदीप जोशी, अतिरिक्त NMC कमिश्नर राम जोशी, जलद शर्मा, मनपा सदन पक्ष नेता संदीप जाधव, विरोधी पक्ष नेता तानाजी वनवे, स्वास्थ्य समिति अध्यक्ष विक्की कुकरेजा, जिलाधिकारी रवीन्द्र ठाकरे, अतिरिक्त कलेक्टर खजांची, CMO नागपुर प्रमुख उप- आयुक्त तेलंग, विभागीय आयुक्त,उच्चतम न्यायालय मुख्य रजिस्ट्रार, पोलीस कमिश्नर अमितेश कुमार इनको अथवा इनके प्रतिनिधियों को मिलकर पत्र एवं ज्ञापन सौंपे और उसी प्रकार सर्वोच्च न्यायालय, महामहिम राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, ओम बिडला (लोकसभा अध्यक्ष) वैकया नायडू (राज्य सभा अध्यक्ष) स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्ष वर्धन, भगत सिंह कोश्यारी राज्यपाल महाराष्ट्र, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) अध्यक्ष H.L.दत्तू,मेडिकल काउंसिल आॅफ इंडिया(MCI) अध्यक्ष जयश्री मेहता को पत्र लिखकर दखल देने की मांग की है

और सभी आर्थिक रूप से कमजोर मध्यमवर्गीय परिवारों निम्नमध्यवर्गीय परिवारों के मरीजों का सभी प्रकार के अस्पतालों में मुफ्त इलाज प्रधानमंत्री जीवन बीमा पॉलिसी के तहत हो अन्यथा जनहितार्थ, देशहितार्थ हमारा संगठन देशव्यापी उग्र जनआंदोलन करने की चेतावनी भी दी है.