Published On : Fri, Nov 24th, 2017

आगामी शीतसत्र में शहर के नागरिक तैयार रहे ट्रैफिक जाम की समस्या के लिए


नागपुर: नागपुर शहर में इन दिनों ट्रैफिक की समस्या से रोज शहर के नागरिकों को जूझना पड़ रहा है. मेट्रो रेल का निर्माणकार्य और सीमेंट सड़कों के निर्माण कार्य के कारण पहले ही कई जगहों की सड़के बंद हैं तो कई सड़कों को वन वे कर दिया गया है. लेकिन शीतसत्र के दौरान ट्रैफिक की समस्या अगले महीने और ज्यादा बढ़ सकती है. इस बार अधिवेशन शीतसत्र में करीब 2 सप्ताह तक शहर का अमूमन ट्रैफिक जाम होने की संभावनाएं हैं.

क्योंकि विधानभवन के चारों तरफ की सड़कों को बंद किया जाएगा. जिसके कारण पहले ही शहर के नागरिक ट्रैफिक की समस्या से रोजाना परेशान हो रहे हैं और ऐसे में अधिवेशन शीतसत्र में नागरिकों की परेशानी कम होने की जगह और बढ़नेवाली है. जिसका ताजा उदहारण है गुरुवार को आदिवासी गोवारी समाज के लोगों ने गोवारी स्मारक के पास श्रद्धांजलि कार्यक्रम रखा था. जिसके कारण संविधान चौक के चारों रास्तों पर घंटों ट्रैफिक जाम लगा रहा. जिसको सुचारु करने के लिए ट्रैफिक विभाग को भी काफी मेहनत करनी पड़ी. बावजूद इसके शाम तक ट्रैफिक सुचारू नहीं हो पाया था.

एक बड़े कार्यक्रम में शहर के ट्रैफिक पुलिस का हाल बेहाल हो गया था. अब ऐसे में सवाल यह उठता है कि शीतसत्र में रोजाना करीब 10 मोर्चे शहर के विधानभवन के आसपास के चौकों में दस्तक देंगे. जिसके कारण कई रास्तों को बंद करना होगा. इससे शत प्रतिशत ट्रैफिक जाम की समस्या का सामना रोजाना शहर के नागरिकों को लगातार दो हफ्तों तक करना होगा. ऑफिस जानेवाले, मजदूरी पर जानेवाले, एम्बुलेंस में जानेवाले मरीज सभी को इस अधिवेशन शीतसत्र में ट्रैफिक की समस्या से जूझना ही होगा. इस दौरान सुबह से शाम तक सड़क बंद होने के कारण समस्या ओर विकराल हो सकती है. हालांकि ट्रैफिक विभाग की बातों को माने तो उनका कहना है शीतसत्र के दौरान यातायात को लेकर प्लानिंग हो चुकी है. लेकिन गुरुवार को जिस तरह से ट्रैफिक जाम हुआ. उसे देखकर लगता है कि ट्रैफिक विभाग की प्लानिंग भी इस समस्या को रोक नहीं पाएगी.

इस बारे में ट्रैफिक विभाग के डीसीपी रवींद्रसिंह परदेसी ने बताया कि आनेवाले अधिवेशन में रोजाना कई मोर्चे आएंगे. ट्रैफिक जाम न हो इसके लिए ट्रैफिक विभाग ने काफी सिस्टेमेटिक प्लानिंग की है. शहर के नागरिकों को ट्रैफिक जाम की समस्या न हो इसके लिए ट्रैफिक डाइवर्ट करने के लिए ट्रैफिक पुलिस कर्मियों का स्टाफ हर पॉइंट पर लगाया जाएगा. पिछले वर्ष की तुलना में इस बार यातायात काफी रहेगा. क्योंकि इस बार मेट्रो का निर्माण कार्य और सीमेंट की सड़कों का कार्य भी शहर में शुरू है.