Published On : Tue, Apr 4th, 2017

किसानों की कर्जमाफ़ी के लिए विट्ठल से गुहार

नागपुर: विधिमंडल में विरोधी सदस्यों द्वारा किसानों के लिए निकाली जा रही संघर्ष यात्रा सोमवार को पंढरपुर पहुँची। संघर्ष यात्रा में शामिल नेताओं ने विठ्ल के दर्शन भी किए। इसी दौरान किसानों से संवाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चौहान ने सरकार पर निशाना साधा। चौहान ने कहाँ एक ओर सरकार उद्योगपतियों का ढाई लाख करोड़ का कर्ज माफ़ कर सकती है जबकि उसके पास किसानों के 30 हज़ार करोड़ का कर्ज माफ़ करने की क्षमता नहीं है। भाजपा ने चुनाव प्रचार के दौरान किसानों से किया गया एक भी वादा पूरा नहीं किया है। खुद प्रधानमंत्री ने स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने का वादा किया था पर उस पर अब चुप्पी साध ली है।

विरोधी पार्टियों की संघर्ष यात्रा ने पुने ,सोलापुर ,मंगलवेड़ा ,पंढरपुर और इंदापुर में किसानों से संवाद साधा। इन्ही जगहों पर आयोजित सभा में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राधाकृष्ण विखे पाटिल ने भी सरकार पर हमला बोलते हुए कहाँ किसानों की कोई पार्टी नहीं है सिर्फ खेती ही उनकी एकमात्र पार्टी है। पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार ,पीपल्स रिपब्लिकन पार्टी के प्रा जोगेंद्र कवाड़े ,समाजवादी पार्टी के अबू आजमी और शेतकरी कामगार पार्टी के प्रवीण गायकवाड़ ने किसानों के लिए संपूर्ण कर्जमाफी की माँग की। इन नेताओं के मुताबिक उन्होंने विठ्ठल से किसानों की कर्जमाफी का फ़ैसला लेने की बुद्धि देने की प्रार्थना की है।