Published On : Fri, Jun 9th, 2017

सीमेंट सड़क व मेट्रो रेल निर्माणकार्य से शहर बस सेवा लड़खड़ाई – कुकडे

Kukde
नागपुर:
आज मनपा परिवहन समिति ने स्थाई समिति को परिवहन बजट सुपुर्द किया और बजट में सुधार हेतु स्थाई समिति अध्यक्ष संदीप जाधव को अधिकार दिया। इसके पश्चात पत्रकारों से चर्चा करते हुए परिवहन समिति के अध्यक्ष बंटी कुकडे ने जानकारी दी कि शहर में सीमेंट सड़क व मेट्रो रेल के निर्माणकार्य की वजह से मनपा की शहर बस ‘आपली बस’ सेवा लड़खड़ा गई है। जनवरी 2018 तक सड़कों की स्थिति या मार्ग के संकट दूर नही हुई तो बड़ी बस के बजाय मिनी व मिडी बस का संचलन करेंगे। मनपा को बस संचलन में पिछले 3 माह में 5 करोड़ से अधिक का घाटा सहन करना पड़ा।इसके बावजूद परिवहन समिति ने 254 करोड़ का परिवहन बजट पेश किया।

पेश किए गए बजट के अनुसार बंटी कुकडे ने जानकारी दी कि शहर को प्रदूषण मुक्त करने के उद्देश्य से शहर में बायो डीज़ल व बिजली से चलने वाला बस चलाया जायेगा।सार्वजनिक व निजी सहयोग से बस टर्मिनल विकसित किया जायेगा।बस ऑपरेटरों के लिए शहरभर में दर्जनभर वर्कशॉप व डिपो निर्माण किया जायेगा। बस स्टैंड की बची जगह पर स्वयंरोजगार के लिए बेरोजगारों को व्यवसाय करने हेतु जगह उपलब्ध करवाई जाएगी। यात्रियों के सुविधा के लिए टोल फ्री व व्हात्सप्प क्रमांक उपलब्ध करवाया जायेगा। 30 व 60 फुट के सड़को पर मिनी व मिडी बस चलाये जाएंगे। जिसकी शुरुआत 22 जून से संभावित है।राज्य सरकार की तेजश्वनी योजना अंतर्गत महिला स्पेशल बस चलाये जाएंगे।पंडित दीनदयाल उपाध्याय, पथ अंत्योदय योजना अंतर्गत स्टडी टूर,खेल स्पर्धा व विद्यार्थियों से जुड़े उपक्रम के लिए बस प्रबंध करने के मामले पर खर्च हेतु 50 लाख रुपये का पहली दफे प्रावधान किया गया है।वरिष्ठ नागरिकों के लिए भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी जेष्ठ नागरिक योजना के तहत 50 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है। बस सेवा व्यवस्था में सुधार हेतु प्रत्येक बस स्थानक पर प्रत्येक 15 मिनट पर बस उपलब्ध करवाने पर जोर दिया जा रहा है।

कुकडे के अनुसार 432 बस चलाने का निर्णय लिया गया है,फिलहाल 187 बस चल रहे है। पिछले 3 माह में 13.34 करोड़ आय व खर्च 19.30 करोड़ हुए है।खर्च का ब्योरा व ग्रीन बस में अबतक कितने यात्री सफर किये उसका परिवहन समिति के पास हिसाब नही है। यह भी जानकारी नही दे पाए कि शेष 45 ग्रीन बस कब तक शहर बस सेवा के लिए उपलब्ध हो पायेगी।जिस मार्ग पर ग्रीन बस की मांग नही होंगी,उस मार्ग पर बस बंद कर दी जाएंगी।शहर बस सेवा व मानपा बस स्थानक को अवैध परिवहन अड़चन पैदा कर रही है।इसके लिए पुलिस आयुक्त,परिवहन विभाग व यातायात उपायुक्त को पत्र लिख मसला सुलझाने की गुजारिश की जाएंगी।