Published On : Sat, Apr 18th, 2015

गड़चांदुर शहर में गोलीबारी, आरोपी फरार


कोई जीवित हानि नहीं

एसएमएस द्वारा हप्ता वसूल करनेवाला रफिक कौन?

Firing in Gadchandur  (1)
गड़चांदुर (चंद्रपुर)। यहां के प्रतिष्ठित नागरिक तथा नगरसेविका विजयलक्ष्मी डोहे के पति अरुण केशव डोहे पर उनके घर में गोलीबारी की गई. लेकिन, सौभाग्य से वे बच गए. यह घटना शुक्रवार 17 अप्रैल की रात 10:45 बजे के करीब घटी. कुछ दिन पूर्व अरुण डोहे के मोबाइल पर हप्ता वसूली एसएमएस आया था.

प्राप्त जानकारी के अनुसार टीचर कालोनी स्थित अरुण डोहे अपने घर में कल रात में टीवी देख रहे थे. इसी दौरान दो अज्ञात व्यक्तियों ने उनपर गोलीबारी कर दी. इसमें से एक गोली जाली के दरवाजे से टीवी के रिमोट को लगी. वहीं दूसरी गोली दरवाजे के बॉटम को लगी. पहले अरुण डोहे को यह मामला कुछ समझ में नहीं आया. तब उन्होंने घर के बाहर आकर देखा तो, दो अज्ञात व्यक्ति दुपहिया वाहन से तेजरफ्तार से जाते हुए दिखाई दिए. अँधेरे का फायदा उठाकर दोनों अज्ञात व्यक्ति फरार हो गए. इस घटना की जानकारी पुलिस को दी गई. जानकारी मिलते ही पुलिस तुरंत घटनास्थल पहुंची तथा जांच में जुट गई.

Advertisement

Firing in Gadchandur  (2)
अरुण डोहे का जमीन खरेदी-बिक्री का व्यवसाय है. इसी संदर्भ में उनपर हमला हुआ होगा ऐसी चर्चा शहर में शुरू है. शहर में विगत कुछ दिन पूर्व व्यापारियों को रफिक नाम ले व्यक्ति ने पाच लाख के हप्ते के   लिए एसएमएस कर रहा था. डोहे को भी ऐसा ही एसएमएस आया था. पुलिस ने रफिक के खिलाफ अपराध दर्ज किया है तथा रफिक नामक व्यक्ति कौन है? इसकी जांच में लग गई है.

अरुण डोहे पर हुआ हमला जमीन खरेदी-बिक्री, हप्ता वसुली या दूसरे कोई कारण से होने की जानकारी भी नहीं मिली है. पुलिस रफिक के एसएमएस व आदि जांच कर रही है. लेकिन गडचांदुर में हुई गोलीबारी की घटना लोगों में चर्चा का विषय बानी है. खबर लिखे जाने तक आरोपी का पता नहीं लगा था.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement