Published On : Fri, May 8th, 2015

वरुड : आदिवासी बस्ती में आग


8 मकान जलकर खाक

Fire in tribal area in Warud
वरुड (अमरावती)। तहसील के झटामझरी गांव की आदिवासी बस्ती में  शुक्रवार को सबेरे 10 बजे अचानक भीषण आग लग गई. इस आगजनी में 8 आदिवासियों के घर जलकर खाक हो गए. वरुड दमकल विभाग की गाडियों ने घटना स्थल पर पंहुच कर आग पर काबू पाया. इस आगजनी की घटना में 2 लाख से अधिक का माल जलकर खाक  हुआ. जिसमें इन कपडे, अनाज बर्तना आदि का समावेश है.

दमकल विभाग ने दिखाई तत्परता
सबेरे से समय बस्ती के बच्चे घर के पास खुली जगह में खेल रहे थे और महिलाएं घरों में अपना काम कर रही थी. तभी अचनाक कुछ घरों में से लपटें उठने लगी. कुछ ही देर में इन लपटों ने विकराल रुप ले लिया. और आग अन्य घरों में फैलने लगी. तुरंत कुछ लोगों ने दमकल विभाग को फोन पर सूचित किया. दमकल विभाग की गाडियों ने तुरंत वहां पंहुचकर आग पर काबू किया. लेकिन तब तक आग ने हरिभाउ धुर्वे, रामबती उईके, रिमा सिरसाम,विठ्ठल तिडगाम, सुखदेव सरयाम, सुरेश मंडागे, पांडू धुर्वे, रामचंद्र धुर्वे के मकान खाक हो चुके थे.

मदत के लिए आगे बढ़े हाथ
इन बेघर हुए आदिवासियों के लिए जिला परिषद ने अस्थाई निवास व भोजन की व्यवस्था पुलिस विभाग ने की. राजस्व विभाग ने हर परिवार को तत्काल मदत के रुप में 1-1 हजार रुपए दिए. इन बेघरों को सरकार आवास योजना के तहत मकान दे ऐसी मांग गांववासी कर रहे है.


नेत्रहिन बुजुर्ग को बचाया
इस आगजनी की घटना में एक 80 वर्षिय बुजुर्ग साहबराव धुर्वे के फंस जाने से हडकंप मच गया लेकिन  समय रहते गांव वासी युवकों ने अपनी जान पर खेलकर सकुशल बाहर निकाला. इस समय तहसीलदार बालासाहब तिडक़े, थानेदार अर्जून ठोसरे, नायाब तहसीलदार सुरेन्द्र देशमुख, सहित प्रशासन के कई अधिकारी वहां पंहुचे.