Published On : Mon, Jun 24th, 2019

भाजपा कार्यालय में लगी आग

नागपुर: रविवार की शाम गणेशपेठ पुलिस थाना के सामने स्थित मंगलम अपार्टमेंट की 5वीं मंजिल पर शहर भाजपा कार्यालय में उस समय पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं में भगदड़ मच गई, जब अचानक ही शार्ट सर्किट होने के कारण आग भड़क उठी. यहां तक कि भगदड़ के कारण यहां होनेवाले समारोह में आई 2 महिला कार्यकर्ता भी गिर पड़ी.

इसी बीच मनपा में सत्तापक्ष नेता संदीप जोशी और भाजपा शहर अध्यक्ष प्रवीण दटके द्वारा स्थिति को संभालते हुए कार्यकर्ताओं को सुरक्षित बाहर निकाला गया. काफी देर तक चली इस आपाधापी के बाद किसी तरह मामला शांत हो सका. विशेषत: भाजपा कार्यालय में रविवार को शहर अध्यक्ष के रूप में प्रवीण दटके का पदग्रहण होने जा रहा था. कार्यक्रम में महापौर नंदा जिचकार, सांसद विकास महात्मे, निवर्तमान शहराध्यक्ष सुधाकर कोहले, सुधाकर देशमुख, कृष्णा खोपडे, मिलिंद माने, विकास कुंभारे, संदीप जोशी, उपेंद्र कोठेकर सहित कई पार्षद और काफी संख्या में पदाधिकारी-कार्यकर्ता उपस्थित थे.

बिजली की आंखमिचौली
उल्लेखनीय है कि रविवार की शाम 5.30 बजे कार्यक्रम होने की घोषणा की गई थी, लेकिन कुछ कारणों से कार्यक्रम 6.30 बजे शुरू हुआ. शुरुआत होते ही दटके द्वारा निवर्तमान अध्यक्ष सुधाकर कोहले से पदभार स्वीकार किया गया. विधायक कोहले के भाषण खत्म होने के बाद विधायक देशमुख द्वारा अभी कार्यकर्ताओं को मार्गदर्शन किया जा रहा था कि अचानक बिजली गुल हो गई. इमारत में स्वयंचलित जनरेटर व्यवस्था होने से बिजली खंडित होने के बाद बिजली सुचारु हुई, लेकिन तुरंत ही बिजली आपूर्ति पूर्ववत हो गई. इसी दौरान सभागृह में बिजली सप्लाई के बोर्ड से आवाज सुनाई दी.


शुरुआत में इसे स्पीकर की आवाज समझकर नजरअंदाज किया गया, लेकिन तुरंत ही बोर्ड से धमाका होकर धुआं निकलना शुरू हो गया. कुछ ही सेकंडों में आग फैलती गई, जिससे सभागृह में खलबली मच गई. सभागृह में धुआं जमा होने से उपस्थित पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं में भय फैलने लगा, जिससे बाहर भागने के लिए विधायक, सांसद, महापौर में भी भगदड़ मच गई.

पार्किंग में लेना पड़ा कार्यक्रम
सभागृह से बाहर निकलने के लिए बने 3 द्वार पर भागने के लिए कार्यकर्ताओं की एक साथ भीड़ हो गई. भीड़ में किसी तरह की अनहोनी घटना न हो, इसके लिए तुरंत ही जोशी, दटके और अन्य पदाधिकारियों ने मोर्चा संभालकर कार्यकर्ताओं को शांति बनाए रखने की अपील की. साथ ही सर्वप्रथम महिला कार्यकर्ताओं को बाहर निकाला गया. एक ओर आपाधापी के बीच एक कार्यकर्ता अग्निरोधक उपकरण से आग बुझाने का प्रयास कर रहा था, वहीं सूचना मिलते ही तुरंत अग्निशमन विभाग और पुलिस के जवान भी घटना स्थल पहुंच गए. जिसके बाद इमारत के नीचे बने पार्किंग स्थल पर कार्यक्रम का समापन किया गया.