Published On : Sat, Oct 4th, 2014

गोंदिया : महिला इंजीनियर 10 हजार की घूस लेते पकड़ी गई

Advertisement

Bribe Kalpana
गोंदिया। 
भ्रष्टाचार निरोधक विभाग (एसीबी) गोंदिया के दल ने गोंदिया पंचायत समिति कार्यालय में कार्यरत स्थापत्य अभियांत्रिकी सहायक श्रीमती कल्पना मलेवार को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया. मलेवार के खिलाफ गोंदिया शहर पुलिस स्टेशन में एक मामला भी दर्ज किया गया है.

शिकायतकर्ता किसान है और उसे इंदिरा आवास योजना के तहत घर के निर्माण के लिए करीब 70 हजार रुपया पंचायत समिति गोंदिया की तरफ से मंजूर हुआ था. इस राशि में से 25-25 हजार के दो चेक जुलाई 2014 में शिकायतकर्ता को दिए गए, इससे पूर्व मई 2014 में स्थापत्य अभियांत्रिकी सहायक श्रीमती कल्पना मलेवार मकान का निर्माण कार्य देखने के लिए शिकायतकर्ता के घर पहुंचीं थी, तब मलेवार ने अनुदान के चेक जारी करने के लिए 20 हजार रुपयों की मांग की थी.

घर का निर्माण कार्य पूर्ण होने पर जब शिकायतकर्ता अंतिम चेक के बारे में पूछताछ करने 30 सितंबर 2014 को पंचायत समिति के कार्यालय पहुंची तो श्रीमती मलेवार ने साफ कहा कि दोनों चेक लेते समय कमीशन नहीं दिया गया है. मलेवार ने एक बार फिर 20 हजार रुपयों की मांग की. शिकायतकर्ता के यह कहने पर कि यह रकम कुछ ज्यादा होती है तो मलेवार ने कहा कि अभी 10 हजार दे दो और चेक मिलने के बाद 10 हजार दे देना. लेकिन शिकायतकर्ता ने रिश्वत देने की बजाय एसीबी में शिकायत ज्यादा उचित समझा.
और शिकायतकर्ता एसीबी के गोंदिया कार्यालय पहुंच गया. एसीबी गोंदिया के एक दल ने आज 4 अक्तूबर को जाल बिछाया और 41 वर्षीय श्रीमती कल्पना मलेवार को 10 हजार रुपयों की घूस लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. गोंदिया शहर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है. इस कार्रवाई को पुलिस उप अधीक्षक दिनकर ठोसरे, पुलिस निरीक्षक प्रमोद घोंगे, हवलदार गोपाल गिरेपुंजे, सिपाही राजेश शेंद्रे, योगेश उइके, तोषेत मोरे, शेखर खोब्रागडे, देवानंद मारबते, तनुजा मेश्राम ने अंजाम दिया.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement