Published On : Wed, Feb 11th, 2015

धामणगांव रेलवे : स्वाइन फ्लू से महिला डाक्टर की मौत


स्कूल उडऩ दस्ते में थी कार्यरत

धामणगांव रेलवे (अमरावती)। देश भर में कहर बरपा रहे स्वाइन फ्लू ने अमरावती जिले में भी दस्तक देकर पैर फैला लिये है. इस क्रम में स्वाइन फ्लू से धामणगांव रेलवे के ग्रामीण अस्पताल में कार्यरत एक महिला डाक्टर की मौत हो गई. इस खबर से पूरे शहर में स्वाइन फ्लू की दहशत फैल गई है. मृतक डा.विशाखा निकोसे है. डा. निकोसे  तहसील के स्कूली छात्र जांच उडन दस्त में कार्यरत थी. 2 फरवरी को अचानक उनकी तबीयत खराब होने से डा.बागडी के अस्पताल अमरावती में भरती किया, लेकिन हालत नाजूक होने से उसे नागपुर के डा.चांडक सुपर स्पेशालिटी अस्पताल में भरती किया. यहां इलाज दौरान बुधवार तडक़े 5.30 बजे उन्होंने दम तोड़ दिया.

जांच के दौरान चपेट में
ग्रामीण अस्पताल अमरावती के प्रख्यात डा.निकोसे की भतीजी डा.विशाखा कुछ महिने पहले ही ठेकेदार पध्दति से यहां कार्यरत हुई थी. धामणगांव तहसील की प्रत्येक स्कूल में छात्र-छात्राओं की मेडिकल जांच की जिम्मेदारी विशाखा की ओर थी. इस कारण से अलग-अलग स्कूलों में जाकर विद्यार्थियों की मेडिकल जांच करती थी. जिसकी वजह से कुछ दिन पहले ही उन्हें सर्दी जुकाम हुआ था, लेकिन फिर भी वह ड्यूटी करती रही, इस कारण उनका स्वास्थ्य और बिगड़ गया. उनके साथ कार्यरत डा.पाटील, लोचन पांडे व स्वास्थ सेविका पर स्वाइन फ्लू का इलाज किया जा रहा है. डा. निकोसे अपने पीछे 9 माह का बेटा व परिवार छोड़ गई है. डा.निकोसे की मौत से पूरे शहर में स्वाइन फ्लू की दहशत निर्माण हो गई है. हर कोई इस बीमारी की दहशत में है.

Swine-flu