Published On : Thu, Mar 19th, 2015

अकोला : ईमानदार आटो चालक का थाने में सत्कार


1 लाख 25 हजार की रकम कर दी वापस

Auto driver
अकोला। आज के भागादौडी की दुनिया में मनुष्य को श्वास लेने की फुरसद नहीं मिलती. उसमे इमानदारी बहोत कम पैमाने पर सुनने को मिलती है. मात्र एक गरीब ऑटो चालक ने उसे मिले 1 लाख 25 हजार रूपये मुल मालिक को स्वाधीन करने से उनका पुलिस निरीक्षक अनिल ठाकरे के हाथों शाल-श्रीफल व नगद पुरस्कार देकर सत्कार किया गया. मूर्तिजापूर शहर की पुरानी बस्ती रोशनपूरा स्थित निवासी लियाकत उल्लाखान हमीदुल्लाखान शहर में आटो चलाकर अपनी दैनिक जीवन यापन करते है.

17 मार्च को दोपहर मौलाना अब्दुल कलाम आझाद नगर परिषद उर्दु शाला में कार्यरत शिक्षक शे.मुस्ताक शे. हसन शिरजगांव कस्बा ह.मु. रोशनपुरा किला मस्जीद के पास रहते है. उन्हें मिरगी की बीमारी होकर वे आरडी के 1 लाख 25 हजार रूपये बैग में लेकर साइकिल से घर वापस आ रहे थे. दौरान लक्ष्मीबाई देशमुख सामन्य उपजिला अस्पताल के सामने उन्हें मिरगी का झटका आया ओर वे साइकिल से नीचे गिरे. उनके बैग की रकम लेकर एक बच्चा भागता हुआ आटो चालक लियाकत उल्लाखान के निदर्शन में आया उन्होंने तत्काल उक्त बैग हस्तगत कर शे. मुस्ताक कुरेशी को अस्पताल में दाखल किया और प्राप्त रकम यातायात पुलिस राजू अहीर, कान्हा पवार, सुधीर जयस्वाल की मदद से पुलिस थाने में जमा की. शेख मुस्ताक कुरेशी के रिश्तेदारों को सूचित कर 1 लाख 25 हजार रूपये की रकम अजीज अहेमद कुरेशी के स्वाधीन की. आटो चालक ने इमानदारी का परिचय देने से पुलिस निरीक्षक अनिल ठाकरे ने प्रशंसा कर उनका पुलिस थाने में एक छोटा खानी कार्यक्रम लेकर शाल – श्रीफल व उपहार देकर सत्कार किया.

इस अवसर यातायात पुलिस के कामगिरी से उन्हें भी सम्मानित किया गया. इस अवसर पुलिस उपनिरीक्षक दिलीप गवई, यातायात पुलिस सिपाही राजू अहीर, कान्हा पवार, सुधीर जयस्वाल, अशोक देशमुख, रमेश नितवने, दिगांबर नफते, पु.प. रामराव देशमुख आदि उपस्थित थे.