Published On : Fri, Mar 26th, 2021

किसानों का भारत बंद 2.0 का नागपुर में असर कम

देश भर में चार शताब्दी ट्रेन रद्द हुईं, 32 रेल लोकेशन प्रभावित

नागपुर– नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने शुक्रवार को ‘भारत बंद’ बुलाया है. किसान संगठन संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने देशभर में शांतिपूर्ण बंद की अपील की थी. यह हड़ताल सुबह 6 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक जारी रहेगी. इस दौरान अनुमान लगाया जा रहा था कि रेल और सड़क यातायात खासा प्रभावित हो सकता है. फिलहाल किसानों के प्रदर्शनों का असर पंजाब, हरियाणा और दिल्ली में खासा नजर आ रहा है. हालांकि नागपुर शहर में पहले से कोरोना के कारण लॉकडाउन लगा होने के कारण नागपुर शहर में इसका असर कम देखने को मिल रहा है.

समाचार एजेंसी भाषा के अनुसार, गंगानगर किसान समिति के रंजीत राजू ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि किसान आंदोलन के चार महीने 26 मार्च को पूरे होने के मौके पर राष्ट्रव्यापी बंद के आह्वान के दौरान दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान 12 घंटे तक बंद रहेंगे. उन्होंने बताया, ‘बंद सुबह छह बजे शुरू होगा और शाम छह बजे तक चलेगा और इस दौरान सभी दुकानें तथा डेयरी और सब कुछ बंद रहेगा.’ इसके अलावा किसान आंदोलन के चार महीने पूरे होने पर भारत बंद बुलाया गया है.

भारत बंद का असर-
राजधानी दिल्ली के चार मेट्रो स्टेशन प्रभावित हुए हैं. खबर है कि टिकरी बॉर्डर पंडित श्रीराम शर्मा, बहादुरगढ़ सिटी और ब्रिगेडियर होशियार सिंह मेट्रो स्टेशन को बंद किया गया है.

प्रदर्शन कर रहे किसान पंजाब, हरियाणा और दिल्ली के 31 लोकेशन्स पर मौजूद हैं. उत्तर रेलवे ने जानकारी दी है कि अंबाला और फिरोजपुर डिविजन पर रेल यातायात प्रभावित हुआ है. भारतीय रेल ने बताया है कि 32 लोकेशन पर रेल सेवा पर असर पड़ा है. इस दौरान 4 शताब्दी ट्रेन रद्द हो गई हैं.

पंजाब के अमृतसर में किसानों ने वल्लाह रेलवे ट्रैक को ब्लॉक कर दिया है. इसके अलावा बठिंडा के भाई गनिया चौक को भी बंद कर दिया है. यह चौक शहर को अमृतसर, चंडीगढ़ और राजस्थान के साथ-साथ फिरोजपुर से भी जोड़ता है.

किसानों ने दिल्ली-उत्तर प्रदेश की गाजीपुर सीमा को रोक दिया है. हालांकि, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में कारोबारियों ने ‘सामान्य’ रहने की अपील की है. साथ ही यह भी तय किया गया है कि किसी को भी दुकानें बंद करने के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा.

किसानों, मजदूरों और ट्रेड यूनियन, सामाजिक कार्यकर्ताओं और राजनीतिक दलों के बैठने के चलते पंजाब और हरियाणा में रेल लाइनें और राष्ट्रीय राजमार्ग खासे प्रभावित हुए हैं. किसानों ने बरनाला में रेल ट्रैक को ब्लॉक कर दिया है.

पंजाब और हरियाणा से प्रदर्शनकारियों की संख्या ज्यादा होने के चलते इन दोनों राज्यों में पूर्ण 12 घंटे बंद की संभावना जताई जा रही है. कई राजनीतिक दलों ने किसानों के विरोध में समर्थन जताया है. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के बाद राहुल गांधी ने भारत बंद को समर्थन दिया है.