Published On : Mon, Oct 9th, 2017

नागपुर जिले में किसानो की मौत होती रही कृषि विभाग सोता रहा

C Bawankule
नागपुर: नागपुर जिले के कृषि विभाग की बड़ी लापरवाही और असंवेदनहीनता सामने आयी है। जहरीली कीटनाशक दवाइयों के छिड़काव से विदर्भ में हुई मौतों में से 5 मौत नागपुर जिले में भी हुई। लेकिन किसानो से जुड़े इस गंभीर मामले को छुपाने का आरोप कृषि विभाग पर लगा है। सोमवार को पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले द्वारा इसी मसले पर ली गयी बैठक में इस बात का खुलासा हुआ। इस बैठक में एम बी शेंडे कृषि अधीक्षक ने कीटनाशक के छिड़काव की वजह से 5 जबकि कीटनाशक का सेवन करने की वजह से 10 मौते होने की जानकारी पालकमंत्री को दी। 10 जुलाई 2017 को पहली मौत हुई लेकिन इसकी जानकारी कृषि विभाग,राजस्व विभाग और पुलिस किसी की भी तरफ सरकार द्वारा नियुक्त से जिले के पालक को नहीं दी गयी।

जबकि इसी दौरान विदर्भ में जहरीले कीटनाशक दवाई के फसलों पर किये जाने वाले छिड़काव से मौत का सिलसिला शुरू हो गया था। सोमवार को जब खुद पालकमंत्री ने अपनी ओर से इस मसले पर समीक्षा बैठक का आयोजन किया तब जाकर जिले में 5 किसानो की मौत होने का सार्वजनिक खुलसा हुआ है। राज्य के मुख्यमंत्री का गृह जिला होने के बावजूद कृषि विभाग ने लापरवाही की हद पार कर दी। पालकमंत्री ने खुद माना की उन्हें अंधेरे में रखा गया।

किसानो की हो रही मौत को रोकने के लिए कृषि विभाग,राजस्व और पुलिस महकमे द्वारा आपस में किसी भी तरह का समन्वय स्थापित नहीं किये जाने की जानकारी भी सामने आयी है। इस बैठक में पालकमंत्री ने कृषि विभाग तो तत्काल किसानो और खेती का कार्य करने वाले मजदूरों का मार्गदर्शन करने का आदेश दिया है। इस बैठक में कृषि विभाग के ढुलमुल रवैये की बानगी उस समय देखने को मिली जब सामने आया की कृषि अधिकारी और कृषि सहायको को ही इस मौतों की जानकारी नहीं है। हद तो तब हो गयी जब विभाग को मौत की वजह पता भी चली लेकिन किसी भी किसान ने न तो संपर्क किया गया और न ही इलाके के जनप्रतिनिधियों को इसकी जानकारी दी गई।

फसलों पर जहरीले कीटनाशक के फवारणी की वजह से कलमेश्वर के माणिक शेंडे, भिवापुर तहसील के प्रभाकर मिसाल,कामठी के मुरलीधर खड़से,मौदा के संभाजी वांगे और दिनेश ढोलवार शामिल है। किसानो की हुई मौत के मामले में पुलिस विभाग और कृषि विभाग के आकड़ो में भी फर्क है कृषि विभाग 15 मौत बता रहा है जबकि पुलिस का कहना है की 9 किसानो की मौत हुई है।