Published On : Sat, Jul 27th, 2019

क्या नकली पुलिस के छापे से 2 युवकों की डूबने से हुई मौत ?

नागपुर: सक्करदरा पुलिस थाने के अंतर्गत बहादुरा गांव से लग कर एक नाले में 2 युवकों की डूबने से मौत हो गई. पूरा मामला इस प्रकार है कि बड़ा ताजबाग और हसनबाग परिसर के कुछ लोग बहादुरा गांव के पास खेत मे जुआ (पत्ते) खेल रहे थे . उन्हें दुर से कुछ लोग आते हुए दिखाई दिए. उन्हें लगा की पुलिस की रेड है, इसलिए वह लोग वहां से भागने लगें, वहां पुलिस के डर से भगदड़ मच गई. उसमे से 2 युवक भागते भागते नाले में कूद गए, नाले में दलदल होने से दोनों युवकों की नाले में डूबने से मौत हो गई . मृतक जावेद मोहम्मद इकबाल हसनबाग निवासी और इरफान शेख बड़ा ताजबाग निवासी बताएं जा रहे है . यह घटना परिसर में आग की तरह फ़ैल गई.

घटना को लेकर विभिन्न प्रकार की चर्चाए परिसर में हो रही है . किसी का कहना था कि वह नागपुर क्राईम ब्रांच की पुलिस थी, किसी का कहना है कि वह सक्करदरा या नंदनवन पुलिस थी.

लोगों में यह चर्चा भी जोरों पर है कि वह नकली पुलिस है. आला अधिकारियों से इस मामले को लेकर जानकारी लेनी जब चाही तो पता चला कि सक्करदरा और नंदनवन पुलिस की तरफ से कोई भी दस्ता वहां रेड मारने के लिए गया ही नही था. जानकारी के अनुसार क्राईम ब्रांच टीम का भी कोई दस्ता वहां रेड मारने गया नही था. फिर सवाल यह उठता है कि जो दस्ता वहां रेड मारने गया था तो क्या वह नकली पुलिस का दस्ता तो नही था ?

काफी सवाल खड़े हो रहे है. मामले की गंभीरता को देखते हुए सक्करधरा और क्राईम ब्रांच की टीम भी जांच में जुटी है. घटना को संदेह की नजरों से भी देखा जा रहा है. इस घटना के बाद विभिन्न प्रकार की चर्चा और अफवाहों का दौर जारी है.