Published On : Thu, Sep 3rd, 2020

समाधानकारक जवाब न देने पर 1 दिन का वेतन कटेगा

– नए मनापायुक्त के औचक निरीक्षण में 66 पर हुई कार्रवाई,थमाया गया कारण बताओ नोटिस

नागपुर – नए मनपायुक्त राधाकृष्णन बि ने विगत दिनों मनपा मुख्यालय के विभिन्न विभागों का औचक निरीक्षण किया। जिसमें कुल 66 कर्मी अपने कक्ष/सीट से नदारत पाए गए। जिन्हें उनके आदेश पर कारण बताओ नोटिस थमाया गया। जिससे समाधान न होने पर उनके उस दिन अर्थात 1 दिन का वेतन काटने का कड़क निर्देश दिए जाने की जानकारी मिली हैं।

आयुक्त के औचक निरीक्षण में विभिन्न विभागों के कर्मी बिना बताए छुट्टी पर होने की जानकारी मिली तो कुछ देरी से कार्यालय आने वालों की फेरहिस्त दी गई। नए मनापायुक्त कुछ आला अधिकारियों को लेकर वित्त विभाग, सामान्य प्रशासन विभाग, मालमत्ता कर विभाग, नगररचना विभाग, विद्युत विभाग, सार्वजनिक बांधकाम विभाग, घनकचरा व्यवस्थापन विभाग का निरीक्षण किया। इस दौरान अकारण,बिना सूचना के कुल 66 कर्मी नदारत पाए गए। उक्त 66 कर्मियों ने कारण बताओ नोटिस का समाधानकारक जवाब नहीं दिया तो उनके 1 दिन का वेतन काटने के सख्त निर्देश दिए गए।

इसे गंभीरता से न लेने वाले अधिकारियों पर भी कार्रवाई में कोताही न बरतने का संकेत दिए। आर्थिक जुर्माना आज के युग मे सबसे बड़ी और रामबाण सजा हैं। इस सख्त हिदायत से मनपा मुख्यालय में हड़कंप मच गया।

दूसरी ओर मनपा के जोनल कार्यालय में आयुक्त के कार्रवाई से कोई फर्क नहीं पड़ा।जोन के मुखिया सह आला अधिकारी तक विभिन्न बहाने/कारण दर्शा कर 11 बजे के बाद ही जोन में आते हैं फिर जोनल कर्मियों से समय पर कार्यालय आने जाने और रोजाना के कामकाज पूर्ण करने की बाध्यता कौन तय करेगा ? इसलिए ज़ोन में नियमित समय पर आने वाले कर्मियों ने भी नए आयुक्त से औचक निरीक्षण करने की मांग की हैं।