Published On : Thu, May 18th, 2017

परीक्षा केंद्रों में भीतर परीक्षार्थी और गर्मी में बाहर पालकों का इम्तिहान

File Pic


नागपुर:
 नागपुर शहर में प्रत्येक सप्ताह किसी न किसी विषय या फिर नौकरी को लेकर परीक्षाएं ली जाती हैं. लेकिन गर्मी के मौसम में विद्यार्थियों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. हर सप्ताह शहर के विभिन्न महाविद्यालयों में विद्यार्थियों की भीड़ देखी जा सकती है. इन परीक्षाओं के दौरान कई विद्यार्थियों के साथ उनके अभिभावक भी होते है. इनके लिए स्कूल प्रशासन या महाविद्यालयों की ओर से किसी भी तरह की कोई व्यवस्था नहीं की जाती है.

मई माह में काफी गर्मी होती है और ऐसे में अपने बच्चों के साथ आए इन अभिभावकों को घंटो कड़ी धुप में किसी पेड़ के निचे या फिर किसी जगह पर छाव का सहारा लेना पड़ता ह. भले ही परीक्षा बच्चों की होती हो लेकिन बाहर खड़े यह अभिभावक डेढ़ घंटे या फिर परीक्षा के समयानुसार इधर उधर भटकते परेशान रहते हैं. परीक्षा केंद्रों के बाहर अभिभावकों का भी यह मानना है कि बारह महीने ना सही, कम से कम गर्मी के मौसम में ली जानेवाली परीक्षा में अगर विद्यार्थियों के साथ आए अभिभावकों के लिए बैठने का इंतजाम किया जाए तो इनको भी इतनी गर्मी में परेशान नहीं होना पड़ेगा.

महाविद्यालयों और परीक्षा आयोजकों की ओर से इतने सख्त नियम बनाए गए है कि विद्यार्थियों को ही वे ठोंक बजाकर प्रवेश देते हैं. ऐसी परिस्थिति में वे उनके परिजनों के लिए क्या व्यवस्था करेंगे यह सबसे बड़ा प्रश्न है.