Published On : Mon, Feb 20th, 2017

मतदाता ध्यान दें : चार वोट डालने के बाद ही बजेगी बीप

EVM Machine
नागपुर : राज्य चुनाव आयोग की तरफ से मतदाताओं से अपील की गयी है कि वे भारी संख्या में मतदान कर लोकतंत्र की सुदृढ़ता में महती भूमिका निभाए। आयोग की ओर से बताया गया है कि मतदाताओं को एक बार में चार वोट डालने को लेकर बिलकुल भी परेशान नहीं होना चाहिए। हर मतदाता को इवीएम में अलग-अलग रंग के मतपत्रों पर गौर करना चाहिए। प्रत्येक इवीएम पर चार रंग के मतपत्र होंगे। पहले सफ़ेद रंग का मतपत्र होगा, फिर उसकी नीचे हल्के गुलाबी रंग का मतपत्र होगा, फिर हल्के पीले रंग का और अंत में हल्के नीले रंग का मतपत्र होगा। मतदाता को एक-एक कर चारों मतपत्र में अपने पसंदीदा उम्मीदवार को वोट देना है, यानी सफ़ेद मतपत्र में एक वोट, हल्के गुलाबी में दूसरा, फिर हल्के पीले में तीसरा और फिर हल्के नीले में चौथा वोट। इस तरह जब चारों वोट मतदाता दे चुकेगा, तभी बीप की आवाज़ सुनाई देगी। बीप की आवाज़ का मतलब होगा कि आपका वोट पूरा हुआ।

इन स्थिति में वोट खराब होगा
यदि कोई मतदाता चार अलग-अलग मतपत्रों में वोट देने की बजाय, एक या दो या तीन मतपत्र में ही वोट देगा तो बीप की आवाज़ सुनाई नहीं देगी और बीप की आवाज़ नहीं होने का मतलब है कि वोट अवैध हो गया।

नोटा भी चार बार दबाना पड़ेगा
यदि कोई मतदाता किसी भी उम्मीदवार को वोट नहीं देना चाहता है और इवीएम मशीन में ‘नोटा यानी नन ऑफ़ दी एबॉव’ की बटन दबाना चाहता है तो उसे भी प्रत्येक रंग की मतपत्रिका में ‘नोटा’ की बटन दबाना पड़ेगा। यदि कोई मतदाता सिर्फ एक मतपत्र में या फिर दो ही मतपत्र में ‘नोटा’ की बटन दबाना चाहता है तो वह ऐसा कर सकता है, बशर्ते अन्य मतपत्रों में वह अपने पसंदीदा उम्मीदवार को वोट करे। क्योंकि चार बटन दबने के बाद ही बीप की आवाज़ होगी और यह बीप की आवाज़ ही मतदान पूर्ण होने की गवाही देगी।

चार रंग में होंगे मतदान पत्र
21 फरवरी को सुबह साढ़े सात से शाम साढ़े पांच बजे तक मतदान का समय निर्धारित है। एक प्रभाग में चार वार्ड के मद्देनजर मतदान पत्र भी अलग-अलग रंग के होंगे। हर प्रभाग के ‘अ’ वार्ड के लिए सफ़ेद मतपत्र, ‘ब’ वार्ड के लिए हल्के गुलाबी रंग के, ‘स’ वार्ड के लिए हल्के पीले रंग के और ‘ड’ वार्ड के लिए हल्के नीले रंग के मतपत्र इवीएम में होंगे। 21 फरवरी को मतदान के लिए सार्वजानिक छुट्टी की घोषणा की गयी है।