Published On : Sat, May 4th, 2019

ईवीएम पेटियां बिगाड़ रही कलमना मार्केट में आवक और बोलियों का खेल

Advertisement

नागपुर : लोकसभा चुनाव के बाद ईवीएम की पेटियां अन दिनों कलमना मार्केट के लिए सिरदर्द बनी हुई हैं. इन ईवीएम की रखवाली के लिए चौबीसों घंटे पुलिस और अधिकारियों के पहरे के चलते बाजार में आवक और व्यापार लगभग ठप्प पड़ा हुआ है.

जानकारी के अनुसार जब तक मतों की गिनती नहीं होती, तब तक इसी तरह की स्थिति मार्केट में बनी रहेगी. इसके कारण छोटी गाड़ियों में माल लेकर आने वाले किसान और व्यापारी अभी मार्केट आने से कतरा रहे हैं. इसके चलते आवक पर असर पड़ रहा है. वहीं अधिकारियों के साथ उनके काफिले के आने-जाने के चलते बोली भी ठीक से नहीं लग पा रही है. वहीं छोटी गाड़ी वालों को कलमना गेट के पास बैठे यातायात पुलिस कर्मियों द्वारा निशाना बनाये जाने से भी माल की आवक पर असर पड़ रहा है.

Advertisement
Advertisement

याद रहे कि मार्केट में पेटियां होने के कारण अभी से ही पुलिस तैनात हैं, लेकिन मतगणना के 2 दिन पूर्व मार्केट पूरी तरह से छावनी में तब्दील हो जाता है. इन 2 दिनों में करोड़ों का व्यापार ठप हो जाता है. वहीं रोजंदारी मजदूरों को 2 दिनों तक काम भी नहीं मिल पाता. वर्षों से मतगणना का काम मार्केट में हो रहा है. पहले इसका विरोध भी किया गया था, लेकिन इसका किसी तरह का लाभ नहीं मिलने से मतगणना का कार्य यहीं पर हो रहा है. इसके कारण अनाज बाजार के साथ-साथ फल बाजार पर भी असर पड़ रहा है.

उल्लेखनीय यह है कि व्यापारियों के अनुसार सड़क के निर्माण की वजह से सामने का गेट बहुत समय से बंद है. जिसके चलते पीछे के गेट से आवाजाही हो रही है. अभी सामने के गेट की सड़क तैयार हो गई है तो गेट को शुरू करने की मांग उठ रही है. इससे भी व्यापार में पड़ने वाला असर कुछ कम होने की उम्मीद जताई जा रही है. फिलहाल पीछले गेट पर ट्राफिक पुलिस कर्मियों द्वारा आए दिन छोटी-मोटी गाड़ियों को निशाना बनाया जाता है जिससे माल लेकर आने वालों को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ता है. इनमें अनाज, फल के साथ-साथ सब्जी वालों की गाड़ियां भी रोककर चालान बनाया जा रहा है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement