Published On : Thu, Feb 2nd, 2023

शिक्षा विभाग अपनी बदहाली पर आँसू बहा रहा है ९.४५ पर अधिकारी व कर्मचारी नदारत ।

Advertisement

जिला परिषद द्वारा संचालित शिक्षण विभाग प्राथमिक तथा माध्यमिक मैं नागपुर ज़िले से शिक्षण अधिकारी के कार्यालय से जुड़ी समस्याओं के लिए ग्रामीण तथा शहरी भाग से लोग आते हैं लेकिन शासन निर्णय के अनुसार कार्यालय में कर्मचारी तथा अधिकारियों को 9:45 में उपस्थित रहना अनिवार्य है लेकिन नागरिकों की शिकायत मिलने पर मो शाहिद शरीफ़ चेयरमैन आरटिइ एक्शन कमिटी , स्वयं १ फ़रवरी को सुभा ९.४५ को पहुँचे तो वहाँ नज़ारा चौंकाने वाला था अधिकारी तथा कर्मचारी दोनो वर्ग के लोग उपस्थित नहीं थे कैमरे में क़ैद की गई तस्वीरें इस बात की गवाही दे रही है

Advertisement

वहीं दूसरी ओर प्राथमिक तथा माध्यमिक कार्यालय में आने जाने वाले व्यक्तियों के लिए रजिस्टर रखा गया है जहाँ उन्हें अपने विषय में जानकारी देनी है लेकिन इसका कोई शासन निर्णय नहीं है इस विषय में जानकारी लेने पर शिक्षा विभाग के आयुक्त कार्यालय से पता चला है कि प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षण विभाग के कार्यालय कि गुणवत्ता के लिए नागरिकों को एक रजिस्टर रखा जाए जिसमें आने जाने वाले नागरिक इस कार्यालय के काम करने के तरीक़े से ख़ुश है कि नहीं । इसकी के लिए जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी ज़िम्मेदार है क्योंकि यह कार्यालय उनके अधीन आता है।

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
 

Advertisement