| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sat, Nov 7th, 2020

    एमेजॉन, फ्लिपकार्ट समेत कई शॉपिंग साइट्स पर धड़ल्ले से बिक रहा अपराध का सामान!

    – समय रहते अंकुश न लगा तो बेलगाम हो जाएगा नागपुर शहर का अपराध

    नागपुर: हत्या, डकैती, खून-खराबा और मारपीट जैसे अपराधों को बढ़ावा देने वाले बेहद घातक किस्म के धारदार हथियार पिछले कुछ समय से बेरोकटोक ऑनलाइन बेचे और खरीदें जा रहे हैं। यह गैरकानूनी काम गुप्त रूप से नहीं बल्कि एमेजॉन, फ्लिपकार्ट, शॉपक्लूज़ जैसी शॉपिंग साइट्स पर खुलेआम किया जा रहा है।

    यह ऐसे हथियार हैं, जिनकी बिक्री पर यदि समय रहते अंकुश न लगाया गया तो शहर का अपराध बेलगाम होते देर नहीं लगेगी। ‘इन’ नाम के एक मोबाइल ऐप पर तो चाकू, खंजर, गुप्ती, तलवार जैसे हर तरह के धारदार हथियार उपलब्ध हैं। गौरतलब है कि हाल ही में हुए बाल्या बिनेकर हत्याकांड में इस्तेमाल किए गए सभी हथियार ऑनलाइन ही खरीदे गए थे।

    पहले होती थी तस्करी, अब ऑनलाइन खुल गया बाजार!

    एमेजॉन, फ्लिपकार्ट, शॉपक्लूज़, इन ऐप जैसी सभी वेबसाइट्स और मोबाइल ऐप्स की मेहेरबानी से नागपुर सहित पूरे राज्य में जानलेवा धारदार हथियार आसानी से उपलब्ध हो रहे हैं। पहले धारदार हथियार हासिल करने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती थी, लेकिन आज की स्थिति में किसी भी राज्य तथा शहर में यह घातक हथियार घर बैठे आसानी से उपलब्ध हो जाते है।

    बाल्या बिनेकर हत्याकांड में हुआ था खुलासा

    धारदार हथियारों के ऑनलाइन बेचे जाने का खुलासा हाल ही में महाराष्ट्र की उपराजधानी नागपुर में हुआ। कुछ दिनों पहले ही जुआ अड्डा चलाने वाले कुख्यात बाल्या बिनेकर की सीताबर्डी थानांतर्गत बोले बाबा पेट्रोल पंप के पास दिनदहाड़े हत्या कर दी गई थी। यह दिल दहला देने वाली वारदात सिग्नल पर लगे सीसीटीवी में कैद हो गई थी, जिसका वीडियो पूरे देश में वायरल हुआ। इस एक घटना से जहां सभी नागरिक सहम गए थे, वहीं इस वारदात ने नागपुर शहर पुलिस पर सवालिया निशान खड़े कर दिए थे। जब सीताबर्डी पुलिस और क्राइम ब्रांच ने बाल्या बिनेकर हत्याकांड की जांच शुरू की, तो इसमें यह चौंकाने वाला खुलासा हुआ था कि अपराधियों ने बाल्या बिनेकर की हत्या करने के लिए इस्तेमाल किए गए चाकू, खंजर, कुल्हाड़ी आदि घातक हथियार ऑनलाइन शॉपिंग ऐप से खरीदे थे। दिनदहाड़े हुए इस हत्याकांड के लिए आरोपियों द्वारा की गई प्लानिंग के बारे में जानकार पुलिस के भी होश उड़ गए थे।

    जानलेवा है हथियारों की होम डिलीवरी!

    बाल्या बिनेकर हत्याकांड के आरोपियों ने पुलिस को दिए बयान में यह बताया था कि उन्होंने ये हथियार एमेजॉन, फ्लिपकार्ट जैसे ऑनलाइन शॉपिंग ऐप्स से ख़रीदे थे। ऑनलाइन हथियारों की होम डिलीवरी का अंजाम कितना घातक हो सकता है, यह अनुमान बाल्या बिनेकर हत्याकांड से लगाया जा सकता है। हाल ही में नागपुर पुलिस ने बाल्या बिनेकर हत्याकाड के आरोपियों पर मकोका के तहत कार्रवाई की है और यह मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने की बात की है।

    ‘मल्टीपर्पज़’ कैसे हो गए घातक हथियार?

    दिलचस्प बात ये है कि एमेजॉन, फ्लिपकार्ट, शॉपक्लूज़, इन जैसी वेबसाइट्स और मोबाइल ऐप्स पर चाकू, खंजर, गुप्ती, तलवार आदि प्रकार के धारदार हथियारों को ‘मल्टीपर्पज़ नाइफ’ के नाम से बेच रहे हैं। अब बहुउपयोगी चाकू में गुप्ती का क्या काम है, यह समझ से परे है? इन ऐप पर गुप्ती एक छड़ी के समान दिखाई देती है जिससे किसी को संदेह भी नहीं होता कि छड़ी के अंदर धारदार गुप्ती है। साथ ही चाकू के नाम पर धारदार खंजर बेचे जा रहे है, जिसका नाम ऐप पर किचन नाइफ लिखा रहता है। खंजर जैसे हथियार भी अनेक डिजाइन में आसानी से उपलब्ध हैं और वो भी डिस्काउंट पर।

    तलवार से काटा था केक!

    सूत्रों के अनुसार हाल ही में कुछ युवाओं ने तलवार तथा खंजर से जन्मदिन का केक काटा था। यह फोटो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुई थी। वैसी तलवार भी ‘इन’ ऐप पर देखी जा सकती है। नागपुर पुलिस ने आर्म्स एक्ट के तहत कार्रवाई करते उन्हें सलाखों को पीछे तो भेज दिया लेकिन इन अपराधियों जैसे बहुत-से लोग होंगे जो अपराध के इरादे से ऑनलाइन हथियार खरीद रहे होंगे।

    जल्द लेंगे फैसला : पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार

    ऐसे हथियारों की खरीदी-बिक्री पर अंकुश लगाना नागपुर पुलिस के सामने एक बड़ी चुनौती है। इसमें साइबर सेल की भूमिका भी काफी महत्वपूर्ण है। जब नागपुर टुडे ने इस संबंध में नवनियुक्त नागपुर पुलिस कमिश्नर अमितेश कुमार से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहाँ  कि सभी पहलुओं का जायजा लेकर जल्द ही उचित निर्णय लिया जाएगा

    .

    – रविकांत कांबले

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145